दुग्ध उत्पादकों को अनुदान देने की मांग को लेकर भाजपा का एक अगस्त को राज्यव्यापी आंदोलन
दुग्ध उत्पादकों को अनुदान देने की मांग को लेकर भाजपा का एक अगस्त को राज्यव्यापी आंदोलन
महाराष्ट्र

दुग्ध उत्पादकों को अनुदान देने की मांग को लेकर भाजपा का एक अगस्त को राज्यव्यापी आंदोलन

news

मुंबई, 17 जुलाई (हि.स.)। भाजपा की महाराष्ट्र इकाई ने दूध पर अनुदान देने की मांग को लेकर एक अगस्त को राज्यव्यापी आंदोलन छेड़ने का ऐलान किया है। इसे अभिनव दूध आंदोलन का नाम दिया गया है। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व कृषि मंत्री डॉ.अनिल बोंडे ने यह घोषणा की है। बोंडे के मुताबिक राज्य सरकार को दुग्ध किसानों को 10 रुपये प्रति लीटर या गाय के दूध के लिए 30 रुपये प्रति लीटर की सब्सिडी प्रदान करनी चाहिए। इस मांग को लेकर अभिनव आंदोलन होगा। कोरोना संकट में लॉकडाउन से दूध का कारोबार चरमरा गया है। डेयरी उत्पादों की घटती मांग और दूध की गिरती कीमतों के कारण दूध किसानों को पैसा मिलना मुश्किल हो रहा है। महाराष्ट्र में दैनिक दूध उत्पादन लगभग 14 मिलियन लीटर है। कोरोना संकट ने दूध के कारोबार को मुश्किल में डाल दिया है। लॉकडाउन से राज्य के सभी होटल और अन्य व्यवसाय बंद हैं। मिठाई का कारोबार भी बंद है। डेयरी उत्पादों की बिक्री में 10 से 15 फीसदी की कमी आई है। दूध के दाम गिरने से दुग्ध उत्पादकों के सामने समस्या निर्माण हो गई है। दुग्ध व्यवसाय से जुड़े किसानों को इस संकट से उबारने की आवश्यकता है। दूध का वाजिब मूल्य नहीं मिलने से कई दूध उत्पादक किसान अपना व्यवसाय बंद करने के लिए मजबूर हैं। डॉ. बोंडे ने कहा कि यह एक शांतिपूर्ण आंदोलन होगा। आंदोलन के दौरान दूध को नष्ट नहीं किया जाएगा। दूध किसानों के लिए बहुत पवित्र है और आंदोलन का उद्देश्य केवल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे तक अपनी मांगें पहुंचाना है। सभी दुग्ध उत्पादक किसानों से इस आंदोलन में भाग लेने की अपील की गई है। डॉ. बोंडे ने बताया कि इस आंदोलन में राष्ट्रीय समाज पक्ष , रैयत क्रांति संगठन और शिव संग्राम भी शामिल होंगे। हिन्दुस्थान समाचार/ विनय/ राजबहादुर-hindusthansamachar.in