accused-of-sra-scam-of-200-crores-aap-party-accepts-challenge-of-shiv-sena-mla-yogesh-kadam
accused-of-sra-scam-of-200-crores-aap-party-accepts-challenge-of-shiv-sena-mla-yogesh-kadam
महाराष्ट्र

200 करोड़ के एसआरए घोटाले का आरोप: आप पार्टी ने की शिवसेना विधायक योगेश कदम की चुनौती स्वीकार

news

मुंबई, 06 मार्च (हि. स.)। आम आदमी पार्टी ने शिवसेना विधायक योगेश रामदास कदम की चुनौती स्वीकार करते हुए कहा है कि पार्टी किसी भी तरह की अदालती कार्रवाई के लिए तैयार है और सहर्ष स्वागत करती है। आम आदमी पार्टी चाहती है कि पूरे मामले की अदालत में सुनवाई हो और पूरा सच जनता के सामने आए। आप आदमी पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रीति शर्मा मेनन और मुंबई टास्क फोर्स सदस्य एडवोकेट सुमित्रा श्रीवास्तव ने शुक्रवार को वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे, कांदिवली पूर्व स्थित सुमुख हिल्स परियोजना में कई सौ करोड़ के एसआरए घोटाले का खुलासा किया था। यह प्रोजेक्ट शिवसेना के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री रामदास कदम के पुत्र और वर्तमान में दापोली से शिवसेना विधायक योगेश रामदास कदम की कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा बनाया गया है। आप पार्टी ने आरटीआई के माध्यम से प्रोजेक्ट के कागजात जमा किए और उनका बारीकी से अध्ययन किया। इनमें यह पाया गया कि पूरे प्रोजेक्ट में तमाम गड़बड़ियां हैं और क़ानूनों का जमकर उल्लंघन किया गया है। पूरे प्रोजेक्ट में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। प्रीति शर्मा के अनुसार शिवसेना विधायक योगेश कदम ने हमारे खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने की योजना बनाई है। हम इस चुनौती को स्वीकार करते हैं। इससे उनके प्रोजेक्ट के भ्रष्टाचार को अदालत में उजागर करने का हमें मौका मिलेगा। हम इस बात को दोहराना चाहते हैं कि हमारे द्वारा लगाए गए आरोपों के सभी दस्तावेज उपलब्ध हैं और अदालत में इस घोटाले की पोल खोलने के लिए पर्याप्त हैं। रामदास कदम परिवार के राजनीतिक दबदबे और ठाकरे परिवार के साथ उनकी निकटता के कारण सरकार के माध्यम से न्याय की उम्मीद कम है। ऐसे में हमें उम्मीद है कि अदालत में कानून के मुताबिक न्याय होगा। शिवसेना विधायक योगेश कदम ने कल शुक्रवार को विधान भवन परिसर में प्रेस से बात करते हुए दावा किया था कि परियोजना शुरू होने के समय कंपनी का अस्तित्व में होना महत्वपूर्ण नहीं था। उनका कहना था कि सरकार के पास प्रोजेक्ट का प्रपोजल भेजे जाने के समय कंपनी का अस्तित्व में होना आवश्यक है। प्रीति ने कहा कि यह बहुत बेतुकी बात है। योगेश कदम खुद विधायक हैं और उन्हें कानून की इतनी कम समझ है। कोई आश्चर्य नहीं कि इसीलिए वह 'पप्पू सेना' के पदाधिकारी हैं। मेरे केवल दो प्रश्न हैं। हाईवे की एनओसी के लिए अगस्त, 2000 में जब आवेदन किया गया था तब योगेश कदम की उम्र क्या थी? क्या बाणडोंगरी एकता गृह निर्माण संस्था और योग सिद्धि डेवलपर्स वर्ष 2000 में अस्तित्व में थीं ? हिंदुस्थान समाचार/ विनय