मध्य रेल : पुणे रेल मंडल पर मनाया गया राजभाषा पखवाड़ा
मध्य रेल : पुणे रेल मंडल पर मनाया गया राजभाषा पखवाड़ा
महाराष्ट्र

मध्य रेल : पुणे रेल मंडल पर मनाया गया राजभाषा पखवाड़ा

news

मुंबई, 28 सितंबर, (हि. स.)। पुणे रेल मंडल पर राजभाषा पखवाड़ा मनाया गया। कोरोना संक्रमण जैसी वैश्विक महामारी को ध्यान में रखते हुए राजभाषा पखवाड़ा के सभी कार्यक्रमों का आयोजन वर्चुअल /वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। इस राजभाषा पखवाड़ा की शुरुआत 14 सितंबर को हिंदी दिवस से हुई। इस अवसर पर गृहमंत्री, रेल मंत्री एवं महाप्रबंधक के संदेशों का वाचन किया गया। पुणे मंडल के जनसंपर्क अधिकारी मनोज झंवर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार मंडल रेल प्रबंधक श्रीमती रेणू शर्मा की अध्यक्षता में मंडल राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक का आयोजन किया गया। अपर मंडल रेल प्रबंधक एवं अपर मुख्य राजभाषा अधिकारी श्रीमती नीलम चंद्रा, अपर मंडल रेल प्रबंधक सहर्ष बाजपेयी सहित सभी शाखा अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने अपने विचार व्यक्त किए। पुणे रेल मंडल द्वारा राजभाषा पखवाड़े के दौरान पंद्रह दिनों तक चले इन कार्यक्रमों में निबंध, कहानी चित्र लेखन, स्लोगन, वाक् एवं टिप्पण आलेखन आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिसमें कर्मचारियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। संरक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार तथा राजेंद्र लादे, डीजल शेड के वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर भालचंद्र मानकरे द्वारा तकनीकी प्रस्तुतीकरण दिया गया। मंडल के अधिकारी वर्ग अनुज कटियार, राजेंद्र लादे, अजय कुमार, जगत गुप्ता, संजय कुमार तथा राजभाषा अधिकारी ने प्रतियोगिताओं में निर्णायक की भूमिका निभाई। समापन के दिन सभी प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया तथा काव्य गोष्ठी का भी आयोजन किया गया। इसमें रेल के साहित्यकार एवं कवियों ने भाग लिया। इस काव्य गोष्ठी में श्रीमती नीलम चंद्रा, डा. ए. के. मिश्रा, नजीबुल्लाह, सुधांशु मित्तल, राजेंद्र लादे, सत्येंद्र सिंह, वाई.के. सिंह, नामदेव आबने, सुश्री प्रीति शेवड़े, श्रीमती प्रीति बर्वे, श्रीमती रत्नप्रभा प्रभुणे, तुषार वर्मा, जयवंत उपस्थित थे। सभी कवियों ने उत्साह एवं उमंग भरी कल्पना की उड़ान से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। इस काव्य संगोष्ठी में बड़ी संख्या में अधिकारी एवं कर्मचारी आनलाइन जुड़े थे। इस काव्य संगोष्ठी का संचालन राजभाषा अधिकारी, डॉ शंकरसिंह परिहार ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन राजू तलेकर, वरिष्ठ अनुवादक द्वारा किया गया। इसके पश्चात पुरस्कारों के विजेताओं को बधाई देते हुए मंडल रेल प्रबंधक ने मंडल पर राजभाषा के अधिकाधिक प्रचार प्रसार पर जोर दिया। इस राजभाषा पखवाड़े के आयोजन में प्रकाश गाडिलकर, प्रदीप भोसले, अनुराधा उरसल एवं सिगनल विभाग के मनोज कुमार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हिन्दुस्थान समाचार/दिलीप/ राजबहादुर-hindusthansamachar.in