पश्चिम रेलवे पर स्वच्छ्ता पखवाड़े के अंतर्गत स्वच्छता संबंधी विभिन्न आयोजन
पश्चिम रेलवे पर स्वच्छ्ता पखवाड़े के अंतर्गत स्वच्छता संबंधी विभिन्न आयोजन
महाराष्ट्र

पश्चिम रेलवे पर स्वच्छ्ता पखवाड़े के अंतर्गत स्वच्छता संबंधी विभिन्न आयोजन

news

मुंबई, 26 सितंबर, (हि. स.)। भारतीय रेलवे में 16 से 30 सितम्बर, 2020 तक एक विशेष स्वच्छता अभियान के रूप में "स्वच्छता पखवाड़ा" मनाया जा रहा है, जिससे अपने सभी परिसरों में स्वच्छता की दिशा में दृश्यमान और मूर्त सुधार सुनिश्चित किया जा सके। पश्चिम रेलवे पर इस पखवाड़े के दौरान अपने परिसरों को संवारने के लिए विभिन्न स्वच्छता गतिविधियाें का सिलसिला निरंतर जारी है। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल ने 16 सितम्बर, 2020 को पश्चिम रेलवे पर स्वच्छता पखवाड़े का शुभारम्भ किया। 16 से 24 सितम्बर, 2020 तक के इस अभियान के पहले नौ दिनों में स्वच्छता जागरूकता, स्वच्छ स्टेशन, स्वच्छ ट्रेनें, स्वच्छ ट्रैक, स्वच्छ परिसंचरण क्षेत्र, स्वच्छ डिपो/ यार्ड/ शेड/ रेलवे संस्थान/ स्कूल और स्वच्छ रेलवे कॉलोनी/ स्वास्थ्य इकाइयां/ अस्पताल जैसी महत्त्वपूर्ण संकल्पनाएं साकार हुईं। 15 दिनों तक चलने वाले इस अभियान में स्वच्छता पर 15 विभिन्न संकल्पनाएं साकार होंगी। महात्मा गांधीजी की 151 वीं जयंती के उपलक्ष्य में 2 अक्टूबर, 2020 को श्रमदान के साथ इस पखवाड़े का समापन होगा। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, स्वच्छता पखवाड़ा अभियान में रेलवे स्टेशन परिसर, ट्रेनों, रेलवे पटरियों, रेलवे कार्यालयों, कॉलोनियों, कार्यशालाओं, कोचिंग डिपो और अस्पतालों की स्वच्छता पर मुख्यत: ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि स्वच्छता के हर पहलू में ठोस सुधार हो। इस अवसर पर, महाप्रबंधक कंसल ने सभी से कार्यालयों में साफ- सफाई सुनिश्चित करने के साथ अपने निवास स्थानों पर भी श्रमदान करने की अपील की है। स्वच्छ परिसर के अवलोकन के दौरान, प्रमुख और छोटे स्टेशनों पर परिसंचरण क्षेत्र की गहन सफाई की गई। कार्यशालाओं/ डिपो/डीजल शेडों सहित अस्पतालों/ स्वास्थ्य इकाइयों और प्रमुख और छोटी कॉलोनियों को भी साफ किया गया। लगभग 2.66 करोड़ वर्ग मीटर के सभी क्षेत्र में सफाई की गई। स्टेशनों, कार्यशाला डिपो, रेलवे संस्थानों आदि में 2.3 लाख से अधिक रनिंग मीटर नालियों की सफाई की गई। पश्चिम रेलवे के अंतर्गत पखवाड़े के दौरान, अब तक कुल 243.26 टन कचरा एकत्र किया गया है, जिसमें 27.04 टन प्लास्टिक कचरा, 64.72 टन सूखा कचरा और 151.5 टन गीला कचरा शामिल है। विभिन्न रेलवे स्टेशनों, कार्यशालाओं, डिपो, शेड, रेलवे संस्थानों, स्कूलों और रेलवे कॉलोनियों में एहतियात के तौर पर धूमन, स्वच्छता और एंटी लार्वा स्प्रे किया गया। कीटनाशक और एंटी लार्वा का छिड़काव 623 स्थानों पर किया गया, जबकि 98 स्थानों पर फॉगिंग की गई और 1087 स्थानों पर अवांछित मलबा साफ किया गया। 11 से अधिक रेलवे अधिकारियों, कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों, गैर सरकारी संगठनों, हितधारकों, ट्रेड यूनियन ने पिछले 9 दिनों के दौरान बड़े पैमाने पर श्रमदान में भाग लिया, जिसमें सामाजिक प्रोटोकॉल के सभी मानदंडों को सुनिश्चित किया गया। इस अभियान की शुरुआत से अब तक पश्चिम रेलवे के अंतर्गत 475 से अधिक पेड़ लगाए गए हैं। पिछले नौ दिनों के दौरान, 113 व्यक्तियों को एंटी-लिटरिंग ड्राइव में बुक कर दंडित किया गया और उनसे 23000 रु. का जुर्माना वसूल किया गया। ठाकुर ने बताया कि पश्चिम रेलवे के सभी छह डिवीजन स्वच्छ्ता पखवाड़े को व्यापक और पूर्ण निष्ठा के साथ मना रहे हैं और सामाजिक दूरी के आवश्यक प्रोटोकॉल का भी पालन कर रहे हैं। विभिन्न कार्य स्थलों, स्टेशनों और कार्यालयों में स्वच्छ और स्वच्छ वातावरण बनाए रखने के लिए विशेष जोर दिया जा रहा है। पश्चिम रेलवे के मुंबई डिवीजन में 91 स्टेशनों को कवर करके स्वच्छ्ता पखवाड़ा मनाया जा रहा है, जिसमें कॉलोनियों, स्वास्थ्य इकाइयों, कार्यशालाओं और कार शेडों को शामिल किया गया है। मुख्य ध्यान प्लेटफार्मों, एफओबी, एस्केलेटर, ट्रैक, स्टेशन, नालियों और परिसंचरण क्षेत्रों से कचरे को हटाने पर दिया जा रहा है। यात्रियों को गीले और सूखे कचरे के लिए प्लेटफार्मों और स्टेशन क्षेत्रों पर प्रदान किए गए अलग-अलग डस्टबिन का उपयोग करने के लिए भी जागरूक किया जा रहा है। स्टेशनों के साथ-साथ ट्रेनों में भी यात्रियों से स्वच्छता के फीडबैक प्राप्त किए गए हैं और उनकी प्रतिक्रिया सकारात्मक रही है। स्वच्छ्ता जागरूकता और COVID-19 ऑडियो-विजुअल संदेशों को डिजिटल स्क्रीन के माध्यम से स्टेशनों पर और साथ ही सार्वजनिक घोषणा प्रणाली के माध्यम से रिले किया जा रहा है। एनजीओ ओम प्रकाश प्रतिष्ठान और केशव शिक्षा संस्थान ने सीएसआर गतिविधि के तहत बोरीवली स्टेशन पर अपने विशेष और प्रशिक्षित सफाई कर्मचारी नियुक्त करके कीट नियंत्रण और स्वच्छता जैसी विभिन्न गतिविधियों को अंजाम दिया। उमरगाम औद्योगिक संघ ने 25 नग सैनिटाइजर की बोतलें और 50 मास्क उमरगाम स्टेशन के कर्मचारियों को वितरित किये। सोनगढ़ नगरपालिका द्वारा उकाई सोनगढ़ में अभियान के दौरान 5 डस्टबिन दान किए गए। हिन्दुस्थान समाचार/दिलीप-hindusthansamachar.in