पश्चिम रेलवे : तीन और पार्सल विशेष ट्रेनों की 74 सेवाएं चलाने का निर्णय
पश्चिम रेलवे : तीन और पार्सल विशेष ट्रेनों की 74 सेवाएं चलाने का निर्णय
महाराष्ट्र

पश्चिम रेलवे : तीन और पार्सल विशेष ट्रेनों की 74 सेवाएं चलाने का निर्णय

news

बांद्रा टर्मिनस-जम्मू तवी, ओखा-गुवाहाटी और पोरबंदर-शालीमार के बीच होगा परिचालन मुंबई, 24 जुलाई, (हि. स.)। कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर, निर्धारित समय सारिणी के अनुसार, पश्चिम रेलवे की पार्सल स्पेशल ट्रेनों के परिचालन का सिलसिला लगातार जारी है, जिनके माध्यम से देश भर में चिकित्सा उपकरणों, दवाइयों, खाद्यान्नों आदि जैसी अधिकांश आवश्यक वस्तुओं के परिवहन की जिम्मेदारी पश्चिम रेलवे द्वारा बखूबी निभाई जा रही है, क्योंकि पश्चिम रेलवे अपने सभी ग्राहकों की जरूरतों की पूर्ति के लिए हमेशा पूरी तरह से प्रतिबद्ध रही है। इसी क्रम में पश्चिम रेलवे द्वारा 74 सेवाओं वाली तीन और पार्सल स्पेशल ट्रेनों के परिचालन का निर्णय लिया गया है। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के अनुसार, 3 और पार्सल स्पेशल ट्रेनें बांद्रा टर्मिनस एवं जम्मू तवी, ओखा एवं गुवाहाटी तथा पोरबंदर एवं शालीमार के बीच चलेंगी, जिनका विवरण नीचे दिया जा रहा है। बांद्रा टर्मिनस - जम्मू तवी पार्सल स्पेशल ट्रेन (32 ट्रिप) : ट्रेन नम्बर 00901 बांद्रा टर्मिनस - जम्मू तवी पार्सल विशेष ट्रेन बांद्रा टर्मिनस से 1, 3, 5, 7, 9, 11, 13, 15, 17, 19, 21, 23, 25, 27, 29 और 31 अगस्त, 2020 को 20.00 बजे प्रस्थान करेगी और तीसरे दिन 08.00 बजे जम्मू तवी पहुंचेगी। इसी तरह, ट्रेन नम्बर 00902 जम्मू तवी से 3, 5, 7, 9, 11, 13, 15, 17, 19, 21, 23, 25, 27, 29 एवं 31 अगस्त और 2 सितम्बर, 2020 को 18.30 बजे रवाना होकर तीसरे दिन 06.30 बजे बांद्रा टर्मिनस पहुंचेगी। यह ट्रेन वापी, सूरत, अंकलेश्वर, भरूच, वड़ोदरा, आणंद, अहमदाबाद, महेसाणा, फालना, ब्यावर, अजमेर, जयपुर, अलवर, रेवाड़ी, दिल्ली, अम्बाला, लुधियाना और जालंधर रेलवे स्टेशनों पर दोनों दिशाओं में रुकेगी। ओखा - गुवाहाटी पार्सल स्पेशल ट्रेन (16 ट्रिप) : ट्रेन नम्बर 00949 ओखा - गुवाहाटी पार्सल विशेष ट्रेन 5, 9, 12, 16, 19, 23, 26 और 30 अगस्त, 2020 को सुबह 07.15 बजे ओखा से प्रस्थान करेगी और तीसरे दिन 17.00 बजे गुवाहाटी पहुंचेगी। इसी तरह, ट्रेन नम्बर 00950 गुवाहाटी - ओखा पार्सल विशेष ट्रेन 8, 12, 15, 19, 22, 26 एवं 29 अगस्त और 2 सितम्बर, 2020 को गुवाहाटी से 16.00 बजे रवाना होगी और चौथे दिन 01.10 बजे ओखा पहुंचेगी। यह ट्रेन जामनगर, राजकोट, सुरेंद्रनगर, अहमदाबाद, आणंद, छायापुरी, रतलाम, कोटा, सवाई माधोपुर, बयाना, आगरा किला, टूंडला, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, पंडित दयाल दयाल उपाध्याय जंक्शन, पाटलिपुत्र, मुजफ्फरपुर जंक्शन, कटिहार, न्यू बोंगाईगांव और चांगसारी स्टेशनों पर दोनों दिशाओं में रुकेगी। पोरबंदर - शालीमार पार्सल स्पेशल ट्रेन (26 ट्रिप) : ट्रेन नं 00913 पोरबंदर - शालीमार पार्सल विशेष ट्रेन 3, 5, 7, 10, 12, 14, 17, 19, 21, 24, 26, 28 और 31 अगस्त, 2020 को पोरबंदर से 8 बजे रवाना होगी और तीसरे दिन 04.00 बजे शालीमार पहुंचेगी। इसी तरह, ट्रेन नंबर 00914 शालीमार - पोरबंदर पार्सल स्पेशल 5, 7, 9, 12, 14, 16, 21, 23, 26, 28 और 30 अगस्त और 2 सितम्बर, 2020 को 22.00 बजे शालीमार से रवाना होगी और तीसरे दिन 18.25 बजे पोरबंदर पहुंचेगी। यह ट्रेन जामनगर, राजकोट, सुरेंद्र नगर, अहमदाबाद, आणंद, वड़ोदरा, भरूच, अंकलेश्वर, सूरत, नंदुरबार, भुसावल, अकोला, बडनेरा, नागपुर, गोंदिया, दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर, झारसुगुड़ा जंक्शन, राउरकेला, चक्रधरपुर, टाटा नगर, खड़गपुर जंक्शन, पंसकुरा और मेकेड़ा स्टेशनों पर दोनों दिशाओं में रुकेगी। अत्यावश्यक सामग्री का परिवहन : ठाकुर ने बताया कि 23 मार्च से 22 जुलाई, 2020 तक कोरोना महामारी के दुष्प्रभावों के बावजूद, 417 पार्सल विशेष ट्रेनों के माध्यम से पश्चिम रेलवे द्वारा 82 हजार टन से अधिक वजन वाली वस्तुओं का परिवहन किया गया, जिनमें कृषि उत्पाद, दवाइयां, मछली, दूध आदि मुख्य रूप से शामिल थे। इस परिवहन के माध्यम से उत्पन्न आय लगभग 26.10 करोड़ रुपये रही है। इस अवधि के दौरान पश्चिम रेलवे द्वारा 62 दूध स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं, जिनमें लगभग 46 हजार टन का भार था। और वैगनों के 100% उपयोग से लगभग 8.07 करोड़ रुपये का राजस्व उत्पन्न हुआ। इसी तरह 342 कोविड -19 विशेष पार्सल गाड़ियां लगभग 30 हजार टन भार के साथ विभिन्न आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए चलाई गईं, जिनके द्वारा अर्जित राजस्व 15.19 करोड़ रुपये रहा। इनके अलावा, 5631 टन भार वाले 12 इंडेंटेड रेक भी लगभग 100% उपयोग के साथ चलाये गये, जिनसे 2.58 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ। 22 मार्च से 22 जुलाई, 2020 तक लॉकडाउन की अवधि के दौरान, मालगाड़ियों के कुल 9909 रेकों का उपयोग पश्चिम रेलवे द्वारा 20.15 मिलियन टन आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए किया गया।19,416 मालगाड़ियों को अन्य जोनल रेलों के साथ इंटरचेंज किया गया, जिनमें 9707 ट्रेनों को सौंप दिया गया और 9709 ट्रेनों को अलग-अलग इंटरचेंज पॉइंटों पर ले जाया गया। लॉकडाउन के कारण नुकसान और रिफंड अदायगी : कोरोना वायरस के कारण पश्चिम रेलवे पर कमाई का कुल नुकसान 1837 करोड़ रुपये अनुमानित है, जिसमें उपनगरीय खंड के लिए 271 करोड़ रुपये और गैर-उपनगरीय क्षेत्र के लिए लगभग 1566 करोड़ रुपये का नुकसान शामिल है। इसके बावजूद 1 मार्च 2020 से 22 जुलाई, 2020 तक टिकटों के निरस्तीकरण के परिणामस्वरूप, पश्चिम रेलवे ने 401.44 करोड़ रुपये की रिफंड राशि वापस करना सुनिश्चित किया है। गौरतलब है कि इस रिफंड राशि में, अकेले मुंबई डिवीजन ने 192.06 करोड़ रुपये का रिफंड सुनिश्चित किया है। अब तक, 61.68 लाख यात्रियों ने पूरी पश्चिम रेलवे पर अपने टिकट रद्द कर दिये हैं और तदनुसार उनकी रिफंड राशि प्राप्त की है। हिन्दुस्थान समाचार/दिलीप/राजबहादुर-hindusthansamachar.in