कंगना रनौत की ऑफिस पर की गई तोड़क कार्रवाई पर राज्यपाल कोश्यारी ने जताई नाराजगी
कंगना रनौत की ऑफिस पर की गई तोड़क कार्रवाई पर राज्यपाल कोश्यारी ने जताई नाराजगी
महाराष्ट्र

कंगना रनौत की ऑफिस पर की गई तोड़क कार्रवाई पर राज्यपाल कोश्यारी ने जताई नाराजगी

news

मुंबई, 10 सितंबर (हि.स.)। शिवसेना और फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच चल रहे वाकयुद्ध में अब राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी भी कूद गए हैं। राज्यपाल ने कंगना के मुंबई स्थित पाॅलीहिल का ऑफिस बीएमसी द्वारा जल्दबाजी में तोड़ जाने पर नाराजगी जताई है। राज्यपाल ने इस संबंध मे राज्य के मुख्य सचिव अजोय मेहता को पत्र लिखकर नाराजगी जताई है। राज्यपाल इस संबंध में केंद्र सरकार को भी प्रस्ताव भेजेंगें। बुधवार को बीएमसी ने कंगना के ऑफिस में अवैध निर्माण का हवाला देते हुए तोड़क कार्रवाई की थी। बीते दिनों से शिवसेना और कंगना के बीच घमासान मचा हुआ है। कंगना ने बदले की कार्रवाई बताते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर लगातार हमले बोल रही हैं। इधर कंगना की ऑफिस पर की गई तोड़क कार्यवाही को लेकर महाविकास आघाड़ी में भी मतभेद देखे जा रहे हैं। राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बीएमसी की कार्रवाई को गैर जरूरी बताया है। बुधवार की देर शाम शरद पवार, मुख्यमंत्री उद्वव और शिवसेना के सांसद संजय राउत की वर्षा बंगले पर मुलाकात हुई। इससे पहले बीएमसी के कमिश्नर इकबाल चहल मुख्यमंत्री उद्वव से मुलाकात करने उनके सरकारी आवास वर्षा बंगले पहुंचे थे। सूत्रों के मुताबिक उद्वव ठाकरे और शरद पवार की मुलाकात में मराठा आरक्षण पर चर्चा हुई। साथ ही कंगना के दफ्तर पर हुई कार्रवाई को लेकर बैठक में चर्चा की गई। बैठक में कहा गया कि कार्रवाई मुंबई मनपा की ओर से की गई है। इसमें राज्य सरकार का हस्तक्षेप नहीं है। कंगना के मुद्दे पर प्रतिक्रिया देने से सरकार को बचना चाहिए। कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने भी कंगना के दफ्तर पर की गई तोड़क कार्रवाई पर नाराजगी जताई है। हिन्दुस्थान समाचार / विनय-hindusthansamachar.in