आवाज से कोरोना मरीज की पहचान
आवाज से कोरोना मरीज की पहचान
महाराष्ट्र

आवाज से कोरोना मरीज की पहचान

news

लिए गए 300 मरीज के सैंपल मुंबई, 17 सितंबर (हि. स.)। आवाज से कोरोना मरीज की पहचान करने का गोरेगांव स्थित नेस्को में चल रहा संशोधन में अब तक 300 मरीजो का सैम्पल लिया जा चुका है।अगले चार पाँच दिन में पहले चरण में 500 लोगो का सैम्पल लेकर उस पर प्रयोग किया जाएगा।यह प्रयोग इजराइल की एक कंपनी से अनुबंध कर किया जा रहा है। बता दे कि कोरोना संक्रमित मरीज की पहचान मात्र उसके आवाज से ही कर लिए जाने का दावा किया गया । इजराइल की वोकालिस्ट हेल्थकेयर नामक कंपनी ने यह दावा किया कि उसके पास जो सयंत्र है उससे मरीज की आवाज मात्र से कोरोना के संक्रमण है कि नही इसकी पहचान हो जाती है।मनपा ने वोकालिस्ट कंपनी से अनुबंध कर 1 सितंबर से गोरेगांव स्थित नेस्को में आये मरीजो का सैम्पल लेने की प्रक्रिया शुरू की गई । अब तक 300 मरीजो का सैम्पल लिया जा चुका है।कंपनी द्वारा दिया गया टैब पर लगभग 2 हजार मरीजो का आवाज संकलित कर दिया जाएगा। इस तरह की जानकारी नेस्को कोविड सेंटर की डीन डॉ नीलम आंद्राडे ने दी । उन्होंने बताया कि जिन मरीजो को कोरोना का संक्रमण हुआ रहता है उनके गले और फुफुस में सूजन आ जाती है जिससे उनके आवाज में बदल हो जाता है।जिसका परिणाम मरीज के बोलने में दिखाई देता है।आवाज का नमूना कम्प्यूटर में डालकर उसके बाद उसकी तकनिकी से निष्कर्ष निकाला जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार / राजबहादुर-hindusthansamachar.in