अब छिड़ा धार्मिक स्थलों के बिजली बिल माफ करने को लेकर राजनीतिक टकराव
अब छिड़ा धार्मिक स्थलों के बिजली बिल माफ करने को लेकर राजनीतिक टकराव
महाराष्ट्र

अब छिड़ा धार्मिक स्थलों के बिजली बिल माफ करने को लेकर राजनीतिक टकराव

news

मुंबई, 22 नवम्बर (हि.स.)। महाराष्ट्र में अब धार्मिक स्थलों के बिजली बिल माफ करने को लेकर राजनीतिक टकराव बढ़ता नजर आ रहा है। कई हिंदू संगठनों ने यह मांग उठाई है। इधर भाजपा ने भी समर्थन दर्शाया है। लाॅकडाउन के दौरान बिजली कंपनियों द्वारा भेजे गए ज्यादा बिल और सामान्य ग्राहकों के 100 यूनिट तक के बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर सूबे में सियासी घमासान जारी है। इस बीच हिंदू संगठनों ने धार्मिक स्थलों के बिजली बिल माफ करने की मांग करके नया विवाद खड़ा कर दिया है। आध्यात्मिक समन्वय आघाड़ी के प्रदेशाध्यक्ष आचार्य तुषार भोसले के अनुसार मंदिरों समेत सभी धार्मिक स्थलों के बिजली बिल माफ किए जाने चाहिए। साथ ही मंदिरों पर निर्भर रहनेवाले कारोबारियों को भी बिजली बिलों में बड़ी रियायत मिलनी चाहिए। लॉकडाउन के दौरान कई राज्य सरकारों ने गरीबों को वित्तीय सहायता प्रदान की। लेकिन महाविकास आघाड़ी सरकार ने जरूरतमंदो की मदद नहीं की। इधर ज्यादा बिजली बिलों के मुद्दे को लेकर राज्य सरकार और विपक्षी दल भाजपा के बीच ठनी हुई है। भाजपा ने सोमवार को आंदोलन छेड़ने का ऐलान किया है। राज ठाकरे की अगुवाई वाली मनसे ने भी सोमवार तक का अल्टीमेटम राज्य सरकार को दिया है। अन्यथा उग्र आंदोलन छेड़ने की धमकी दी है। हिन्दुस्थान समाचार / विनय/ राजबहादुर-hindusthansamachar.in