इंदौर की स्वच्छता के मॉडल पर पूरे देश में किया जाएगा कार्य : डीएस मिश्रा
work-on-indore-cleanliness-model-will-be-done-across-the-country-ds-mishra

इंदौर की स्वच्छता के मॉडल पर पूरे देश में किया जाएगा कार्य : डीएस मिश्रा

इंदौर, 27 मार्च (हि.स.)। शहरी विकास मंत्रालय भारत सरकार के सचिव डीएस मिश्रा, स्मार्ट सिटी भारत सरकार के संयुक्त सचिव कुणाल कुमार, संयुक्त सचिव अमृत अभिजात शनिवार को इंदौर में कान्ह सरस्वती नदी लाईफ लाईन प्रोजेक्ट के तहत कृष्णपुरा पर आयोजित सांस्कृतिक समारोह में शामिल हुए। इस अवसर पर मप्र नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव मनीष सिंह, नितेश व्यास, नगरीय प्रशासन आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव, सांसद शंकर लालवानी, विधायक व पूर्व महापौर मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड, संभागायुक्त व निगम प्रशासक डॉ. पवनकुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, निगम आयुक्त प्रतिभा पाल मौजूद रहे। इस अवसर पर शहरी विकास मंत्रालय भारत सरकार के सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा ने कहा कि इंदौर ने बहुत अच्छा और बहुत ही श्रेष्ठ कार्य किया है। इंदौर पूर्व में स्वच्छता सर्वेक्षण में जहां 174वें स्थान पर था, वहां से प्रथम श्रेणी पर आया और पांच वर्ष से प्रथम स्थान पर बना रहा है, यह बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है। इंदौर की जनता का धन्यवाद जिन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के संकल्प को आगे बढ़ाया है। मिश्रा ने कहा कि पूर्व में जब मैं इंदौर आया तो मैंने देखा कि यहां घर-घर में होम कम्पोस्टिंग किया जा रहा है, यहां से ही मैंने होम कम्पोस्टिंग सीखा है और इंदौर को देखकर ही मैंने अपने घर में ही होम कम्पोस्ट किया है। उन्होंने कहा कि मैं यहां के कार्यो को लेकर अभिभूत हॅू। इंदौर ने स्वच्छता के मापदंडो को पूरा करते हुए चार बार स्वच्छता में नंबर वन बना है, इंदौर के लोग बहुत ही दिलवाले, बहुत ही संकल्प वाले नागरिक है। इंदौर ने स्वच्छता का ऐसा माहौल बना दिया है कि अन्य शहर उसके साथ प्रतिस्पर्धा बना रहे हैं। इंदौर ने जो कार्य किया है वह एक स्टडी है, एक लेसन है। इसे लेकर पूरे देश में स्वच्छता के लिये कार्य किया जाएगा। मिश्रा ने कहा -होल्कर इतिहास को कर दिया जीवित सचिव डीएस मिश्रा व अन्य अधिकारियों द्वारा इंदौर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत हरिराव होल्कर छत्री के जीर्णोद्धार कार्य का अवलोकन किया गया। इस अवसर पर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत किये गये जीर्णोद्धार कार्य के संबंध में निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूर्व में यहां पर किस प्रकार से छत्रीयां थी और जीर्णोद्धार के बाद आज यहां नजारा बदल गया है। इस पर सचिव मिश्रा ने कहा कि नगर निगम इंदौर ने होल्कर इतिहास को जीवित कर दिया है। उन्होंने कहा कि हरिराव होलकर छत्री में पूर्व व बाद के किये गये कार्यो की वीडियो का निर्माण किया जाये और उसे मुझ तक पहुंचाया जाये। उन्होने यह भी कहा कि होल्कर कालीन इतिहास से संबंधित चित्रों व इतिहास की गैलरी का निर्माण किया जाये और यहां लगाया जाये, ताकि शहर के लोगों को होल्कर इतिहास की जानकारी मिल सके। इसके साथ ही सचिव मिश्रा व अन्य अधिकारियों द्वारा छत्री के पीछे स्थित गणगौर घाट का भी अवलोकन किया गया और नदी में बह रहे पानी को ग्लास में रखकर देखा। निगम आयुक्त ने बताया कि पूर्व में इस नदी में सीवरेज व गंदा पानी मिला करता था। अब घरों का सीवरेज नदी में ना छोडते हुए, मेन सीवरेज लाईन से जोड़ा गया है और शहर के विभिन्न स्थानों पर आउटफाल टेपिंग का कार्य किया गया है। एसटीपी प्लांट में पानी को ट्रीट कर ट्रीटेड वाटर को नदी में छोडा गया, जिसके परिणाम स्वरूप अब सरस्वती नदी में स्वच्छ पानी बह रहा है। पंचकुईयां सुखे नाले का किया निरीक्षण और देखा भारतीय मलखम सचिव मिश्रा द्वारा पंचकुईया सुखा नाले का निरीक्षण किया गया। सुखे नाले के निरीक्षण के दौरान पंचकुईयां के महंत द्वारा बताया गया कि पूर्व में नाले के गंदे पानी व गंदगी के कारण यहां स्थित मंदिर की मूर्तियां काली पड जाती थी और वातावरण भी प्रदूषित रहता था, लेकिन अब नगर निगम द्वारा नाले को स्वच्छ व सुंदर बना दिया है। इसके पश्चात सचिव व अन्य द्वारा पंचकुईया सुखे नाले में राष्ट्रीय स्तर के पहलवान व कलाकार द्वारा आयोजित भारतीय मलखम का प्रदर्शन भी देखा। इसके साथ ही भारत सरकार के सचिव श्री मिश्रा व अन्य द्वारा आजाद नगर सुखे नाले का भी अवलोकन किया गया। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश

No stories found.