why-the-bjp-does-not-talk-of-equality-in-the-name-of-harmony-of-congress-gimmick-in-the-name-of-harmony
why-the-bjp-does-not-talk-of-equality-in-the-name-of-harmony-of-congress-gimmick-in-the-name-of-harmony
मध्य-प्रदेश

कांग्रेस का तंज, समरसता के नाम पर नौटंकी करने वाली भाजपा समानता की बात क्यों नहीं करती

news

भोपाल, 08 फरवरी (हि.स.)। नगर पालिका और नगर निगम के आगामी चुनाव के चलते दलितों के घर भोजन करते हुए फोटो खिंचवाने और गरीबी पर्यटन की नौटंकी भारतीय जनता पार्टी ना करें। यह कहना है प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता का। उन्होंने सोमवार को कहा कि प्रदेश में जब लाखों दलित गरीब भ्रष्टाचार के कारण हितग्राही योजनाओं के लाभ से वंचित हैं और करोड़ों गरीब बिजली के कई गुना अधिक बिलों को भर पाने में असमर्थ हैं तब मंत्रीगण केवल हितग्राहियों के घर पर भोजन करके सरकारी पैसे से चुनाव प्रचार क्यों कर रहे हैं? कांग्रेस नेता भूपेन्द्र गुप्ता ने स्मरण दिलाया कि भाजपा की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने 2018 में कहा था कि वे भगवान राम थोड़े हैं जो दलितों के घर जाकर उन्हें पवित्र कर देंगीं।जिस दिन दलित मंत्री के चौके में भोजन करेगा उस दिन मंत्री जरूर पवित्र हो जाएंगे। उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि सरकार बताये कि कब दलित जन मंत्री और मुख्यमंत्री के चौके में आकर भोजन कर पाएंगे? गुप्ता ने याद दिलाया कि कुछ साल पूर्व भोपाल में तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार चौहान और विश्वास सारंग ने दलित भाई राम रतन के घर दाल बाटी, चूरमा और बैंगन भरता खाया था लेकिन राम रतन के घर में शौचालय नहीं था। सरकार की भारी निंदा हुई थी, क्या इसी शर्मिंदगी से बचने के लिए अब भाजपा के मंत्री और मुख्यमंत्री चिन्हित हितग्राहियों के घर पर होटल से मंगाया भोजन करते हैं। भारतीय जनता पार्टी अगर एक फीसदी भी समानता में विश्वास करती है तो राज महलों के दरवाजे दलितों के लिए खोलकर दिखाये। गुप्ता ने कहा कि 2017में सिंधिया जी ने भी मायाराम जाटव के घर पर रात्रि विश्राम किया था। क्या मायाराम जी को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है या नहीं इसकी पड़ताल करा लें तो फोटो सेशन उत्पादक हो जायेगा। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय/राजू-hindusthansamachar.in