हरदा में जागरूकता का परिचय दे रहे ग्रामीण, बाहर से आने वालों पर पूरी नजर

हरदा में जागरूकता का परिचय दे रहे ग्रामीण, बाहर से आने वालों पर पूरी नजर
villagers-showing-awareness-in-harda-full-eye-on-those-coming-from-outside

हरदा, 28 अप्रैल (हि.स.)। जिले के ग्रामीण अंचल में अब कोरोना को मात देने के लिए ग्रामीण जागरूकता का परिचय दे रहे हैं। कोरोना को हराने का संकल्प लेकर ग्रामीण सड़क पर उतर आए हैं और स्वप्रेरणा से प्रेरित होकर गांव की सीमा को सील कर दिया है। सीमा की निगरानी भी बारी-बारी से कर रहे हैं। डॉ. रामकुमार शर्मा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत हरदा ने बताया कि कोरोना के प्रकरण सामने आने के बाद स्वेच्छा से जनता कर्फ्यू का पालन करने का संकल्प लिया है और जागरूकता दिखाते हुए संक्रमण से बचाव का एहतियाती उपाय कर रहे हैं। संक्रमण पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए विशेष सावधानी बरत रहे हैं, अत्यावश्यक हो तो तभी घर से बाहर जाते हैं। अपने ग्राम की स्वच्छता व्यक्तिगत स्वच्छता पर जोर दे रहे हैं । शासन की गाइड लाइन का पूरा पालन कर रहे हैं। पंचायतों में जिन गरीबों के पास मास्क नहीं है, उन्हें पंचायत और समाजसेवियों द्वारा मास्क बांटे जा रहे हैं यह स्थिति कमोवेश जिले के सभी पंचायतों में हैं। मास्क का अब उपयोग ग्रामीण अंचल में भी देखने को मिल रहा है, जागरूकता का काफी कुछ असर देखने को मिल रहा है। कोरोना महामारी की भयावहता को देख सुनकर ग्रामीण सजग जागरूक हो गए हैं । संक्रमण रोकने की दिशा में सक्षम व्यक्ति समाज से भी आगे आ रहे हैं और मास्क सेनिटाइजर साबुन आदि बांटकर सहयोग कर रहे हैं। आदिवासी बाहुल्य टिमरनी ब्लॉक की पंचायतों में जागरूकता का असर दिखने लगा है आदिवासी मास्क लगाकर दूर-दूर खड़े होकर जरूरी एवं आवश्यक कार्यों को निपटा रहे हैं। ग्रामीण अंचल में जनता कर्फ्यू का पालन स्वप्रेरणा से हो रहा है लोग जागरूकता का परिचय देते हुए लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए विशेष सावधानी बरत रहे हैं । स्वच्छता पर विशेष जोर दे रहे हैं स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छ होना बेहद जरूरी है, इस लिहाज से साफ-सफाई कर कीटाणु नाशक दवाओं के छिड़काव के लिए पहल की जा रही है। पहले की तुलना में ग्रामीण अंचल की वर्तमान में बेहतर स्थिति नजर आ रही है। जागरूकता का प्रमाण है कि ग्रामीण अंचल की स्थिति में सुधार आ रहा है । शासन-प्रशासन को सहयोग देकर ग्रामीण कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही जंग को जीतना चाहते हैं और इस दिशा में उल्लेखनीय प्रयास कर रहे हैं । सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ होने पर आगे रहकर चेकअप कराकर अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/प्रमोद सोमानी