update-transport-minister-checks-emergency-gate-not-found-in-buses-first-aid-box
update-transport-minister-checks-emergency-gate-not-found-in-buses-first-aid-box
मध्य-प्रदेश

अपडेट: परिवहन मंत्री ने की चेकिंग, बसों में नहीं मिले इमर्जेन्सी गेट, फर्स्ट एड बॉक्स

news

भोपाल, 18 फरवरी (हि.स.)। सीधी बस हादसे के बाद गुरुवार से प्रदेश में बसों की जांच की रस्म अदायगी शुरू कर दी गई। हादसे के बाद जागी प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री खुद चेकिंग के लिए पहुंच गए। परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने खुद भोपाल में बसों का निरीक्षण किया। इस दौरान किसी बस में इमर्जेन्सी गेट नहीं मिला, तो किसी में फर्स्ट एड बॉक्स नहीं था। परिवहन मंत्री गोविंदसिंह राजपूत गुरुवार सुबह 10 बजे अधिकारियों के साथ होशंगाबाद रोड पर पहुंचे और यहां से गुजर रही बसों की जांच की। मंत्री ने नियमों का उल्लंघन करने वाली बसों पर कार्रवाई करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इसके बाद परिवहन मंत्री रायसेन रोड भी पहुंचे। भोपाल में दोपहर तक कुल 60 बसों की जांच की गई। इनमें 8 बसों में इमरजेंसी गेट, फर्स्ट ऐड बॉक्स, आग बुझाने वाले सिलेंडर और टैक्स जमा नहीं करने की गड़बड़ी मिली। इन्हें जब्त कर लिया गया। परिवहन विभाग ने दो बसों में इमरजेंसी गेट नहीं होने पर उनका फिटनेस कैंसिल कर दिया। इन बसों के खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालानी कार्रवाई की जा रही है। परिवहन मंत्री के साथ एडिशनल ट्रांसपोर्ट कमिश्नर अरविंद सक्सेना, आरटीओ भोपाल संजय तिवारी समेत भोपाल संभागीय परिवहन उड़नदस्ता प्रभारी अजीत बाथम मौजूद थे। परिवहन मंत्री ने अधिकारियों से कहा है कि ऑफिस में कम बैठो। सड़क पर उतरो। हमारा काम परिवहन का है। चेक करो। मुझे सख्ती चाहिए। अभी मैं आज बसे चेक कर रहा हूं। आगे में किसी कर्मचारी या अधिकारी को गड़बड़ी मिलने पर छोडूंगा नहीं। कार्रवाई करूंगा। उन्होंने कहा कि चाहे कोई रसूखदार हो, यदि नियमों का उल्लंघन किया, तो कार्रवाई की जाए। राजपूत ने अफसरों से कहा कि किसी का फोन आए, तो भी कार्रवाई न रोकी जाए। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in

AD
AD