वीरांगना लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में दी गई श्रद्धांजलि

वीरांगना लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में दी गई श्रद्धांजलि
tribute-paid-in-state-congress-office-on-the-martyrdom-day-of-veerangana-lakshmibai

भोपाल, 18 जून (हि.स.)। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के सभाकक्ष में शुक्रवार को वीरांगना लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर कांग्रेसजनों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प चढ़ाकर श्रद्धासुमन अर्पित कर उनका पुण्य स्मरण किया। प्रदेश कांग्रेस विचार विभाग के तत्वाधान में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में वीरांगना लक्ष्मीबाई की जीवन गाथा पर प्रकाश डाला गया। पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता सज्जनसिंह वर्मा ने कहा कि आज जो परिवेश गद्दारों के कारण इस हिन्दुस्तान में बना हुआ है, उससे देश की तस्वीर बिगड़ गई है। चाहे सिंधिया हो, शिवराज हो या मोदी हो इन लोगों ने देश के साथ गद्दारी कर देश को गर्त में धकेल दिया है। आज की पीढ़ी को हमें इस गद्दारों के स्वभाव को जानने और इनसे निपटने की आवश्यकता है। प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर ने कहा कि देश जब अंग्रेजों की हुकूमत का गुलाम था तब लक्ष्मीबाई ने देश को आजादी दिलाने में अपने प्राणों की आहूति दी। उन्होंने ग्वालियर शहर का नमकरण रानी लक्ष्मीबाई के नाम पर करने की मांग की। लक्ष्मीबाई ने 1857 की लड़ाई में अंग्रेजों को दांतों तले अंगुली दबाने के लिए मजबूर कर दिया। वे बलिदान हो गईं। प्रदेश कांग्रेस विचार विभाग के अध्यक्ष एवं मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने वीरांगना लक्ष्मीबाई को शौर्य एवं नारी शक्ति की प्रतिमूर्ति बताते हुये उनकी जीवन गाथा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अदम्य साहस, बलिदान और देश की स्वतंत्रता के लिए उनका संघर्ष हमें सदियों तक प्रेरणा देता रहेगा। हिन्दुस्तान में जहां वीरों ने जन्म लिया वहीं वीरांगनाओं ने भी मां भारती के चरणों में अपनी आहुतियां दीं हैं। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री राजीव सिंह ने कहा कि वीरांगना लक्ष्मीबाई के इतिहास को आज की युवा पीढ़ी को समझने की जरूरत हैं। ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जो स्कूल गया हो और उसने लक्ष्मीबाई की जीवन गाथा की कहानियां न पढ़ी हों। हमें उनके जीवन संघर्ष को आगे की पीढ़ी तक पहुंचाने की आवश्यकता है। कार्यक्रम के पश्चात दो मिनिट का मौन रखकर वीरांगना लक्ष्मीबाई को श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्तागण जे.पी. धनोपिया, जितेन्द्र मिश्रा, अजयसिंह यादव, मिथुनसिंह अहिरवार, शहरयार खान, आनंद तारण, फिरोज सिद्धीकी, विक्की खोंगल, सुभाष वाथम, मुईनउद्दीन सिद्धीकी, अभिनव बारोलिया, रवि वर्मा, मनोज सैनी सहित कांग्रेसजन उपस्थित थे। कार्यक्रम में कोविड़ नियमों का पूर्ण पालन किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय

अन्य खबरें

No stories found.