युवाओं में वैक्सीन को लेकर दिख रहा काफी उत्साह

युवाओं में वैक्सीन को लेकर दिख रहा काफी उत्साह
there-is-a-lot-of-enthusiasm-among-the-youth-about-the-vaccine

मंदसौर, 22 मई (हि.स.)। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए वैक्सीन सबसे अधिक कारगर है। जिले में वैक्सीन के प्रति युवाओं में काफी उत्साह है लेकिन अनेक युवा रजिस्ट्रेशन तक नहीं करा पा रहे हैं। इधर जिनका रजिस्ट्रेशन हो रहा उनमें से कई वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंच रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग उनके हिस्से की वैक्सीन को बर्बाद करना उचित समझ रहा, लेकिन उसे अन्य युवा को नहीं लगाया जा रहा। नतीजा 25 डोज रोज बेकार हो रहे हैं। जिले में 18 प्लस वालों को 6 मई से वैक्सीनेशन शुरू किया। वर्तमान में वैक्सीन कम मिलने पर स्वास्थ्य विभाग 3-4 केंद्रों पर ही वैक्सीन लगा रहा है। इसमें भी एक केंद्र पर अधिकतम 100 युवाओं का ही रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। एक-दो केंद्र पर ही 150 के रजिस्ट्रेशन हो रहे हैं। हालत यह है कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के स्लॉट ओपन होते ही बुक हो जाते हैं। हर केंद्र पर जितना लक्ष्य है उतने रजिस्ट्रेशन हो रहे, इसके बाद भी कई युवा वैक्सीन लगवाना चाहते हैं। हैरानी की बात है कि फिर भी स्वास्थ्य विभाग लक्ष्य पूरा नहीं कर पा रहा है। अब इसके सिस्टम की कमजोरी कहें या स्वास्थ्य विभाग में इच्छाशक्ति की कमी। कई युवा ऑनलाइन स्लॉट तो बुक कर लेते हैं, लेकिन वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंच पाते। रोज सभी केंद्रों पर 15 से 20 डोज बर्बाद हो रहे हैं। 6 से 19 मई तक जिले में 18 प्लस केंद्रों पर इसी तरह करीब 232 डोज बर्बाद हो चुके हैं। शासन ने 3380 लोगों के रजिस्ट्रेशन किए, लेकिन केंद्रों पर 3148 ने ही टीके लगवाए। 232 लोग रजिस्ट्रेशन कराने के बाद भी नहीं पहुंचे। हैरानी की बात यह है कि प्रशासन जो युवा वैक्सीन लगवाना चाहता है उन्हें नहीं लगा रहा। अधिकारी शासन के आदेश के अनुसार काम करने की बात कहते हुए जिम्मेदारियों व लापरवाही को छिपा रहे हैं। जिम्मेदार चाहें तो रोज बर्बाद होने वाली डोज केंद्र पर युवाओं को लगाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा। डा. सुरेश सोलंकी, जिला टीकाकरण अधिकारी ने शनिवार को हिन्दुस्थान समाचार से चर्चा करते हुए बताया कि भारत सरकार के जो नियम हैं उसी अनुसार हम काम कर रहे हैं। कुछ ही वैक्सीन बर्बाद हो रही है। इसका समाधान भी किया जा रहा है। दो दिन से शासन शाम 4 बजे तक जिन केंद्रों पर लोग वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंचते उतने लोगों के लिए स्लॉट उसी दिन के लिए ओपन किया जाता है। कुछ जगह शाम को स्लॉट बुक हो रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अशोक झलौया/राजू