the-participants-attended-the-workshop-the-importance-of-aerobics-and-core-strengthening
the-participants-attended-the-workshop-the-importance-of-aerobics-and-core-strengthening
मध्य-प्रदेश

प्रतिभागियों ने वर्कशॉप में जाना एरोबिक्स और कोर स्ट्रेंग्दनिंग का महत्व

news

भोपाल 23 फरवरी (हि.स.)। मानसरोवर ग्लोबल यूनिवसिर्टी के फिजियोथेरेपी विभाग द्वारा इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथेरेपिस्ट भोपाल के साथ मिलकर एरोबिक्स और कोर स्ट्रेंग्दनिंग के महत्व विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में मौजूद विद्यार्थियों और शिक्षकों ने एरोबिक्स और कोर स्ट्रेंग्दनिंग के महत्व को जाना। सत्र का शुभारंभ करते हुए मुख्य अतिथि इंडियन कयाकिंग टीम के फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. मृणाल महाजन ने बताया कि कोर स्ट्रेंग्दनिंग बैलेंस और पॉस्चर को बनाए रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने इसकी कई तरकीबें भी बताई। इसी कड़ी में डॉ. ऋचा सिंह ने वार्मअप और स्ट्रेचिंग कराई। उन्होंने ये भी बताया कि किसी भी एक्सरसाइज को करने से पहले वार्म अप करना जरूरी होता है, क्योंकि इससे शरीर में एक्सरसाइज के दौरान इंज्यूरी होने का खतरा काफी कम हो जाता है। मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी के सी.ई.डी गौरव तिवारी ने इस पूरे सत्र की सराहना करते हुए इसे सेहत की दृष्टि से काफी लाभदायक बताया। वहीं फिजियोथैरेपी विभाग के अध्यक्ष डॉ. जगप्रीत सिंह ने कहा कि मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी कैम्पस में सर्वसुविधा युक्त फिजियोथैरेपी ओपीडी उपलब्ध है, जहां काफी कम शुल्क में जोड़ों के दर्द, लकवा, स्पोर्ट्स इंजुरी आदि समस्याओं का समाधान किया जाता है। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे

AD
AD