the-district-will-soon-get-the-facility-of-city-scan-the-district-administration-has-demanded-from-the-food-minister
the-district-will-soon-get-the-facility-of-city-scan-the-district-administration-has-demanded-from-the-food-minister
मध्य-प्रदेश

जिले को जल्द मिलेगी सिटी स्कैन की सुविधा,खाद्य मंत्री से जिला प्रशासन ने की थी मांग

news

अनूपपुर, 29 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना संक्रमितो के इलाज में सिटी स्कैन का अभाव जिला चिकित्सालय अनूपपुर में खल रहा था। यहा के मरीजों को जांच के लिए शहडोल के लिए लग रहे चक्कर से अब राहत मिलने के आसार नजर आने लगे हैं। जिला चिकित्सालय प्रबंधन की ओर से लगातार सिटी स्कैन मशीन की जा रही मांग और प्रशासन द्वारा भेजे गए डिमांड में शासन ने इसकी मंजूरी दे रही है। सिटी स्कैन के लिए प्रदेश भर के लिए बनी सूची में अब अनूपपुर पीएस द्वारा अनूपपुर जिला चिकित्सालय के भ्रमण के दौरान सिटी स्कैन की असुविधा से अवगत कराया गया था,जिसमें तत्काल उपकरण नहीं लगने की बात कहते हुए ऐसे मरीजों को शहडोल मेडिकल कॉलेज से जांच कराते हुए इलाज के निर्देश दिए गए थे, साथ ही पीएस ने जल्द ही इस मामले में कार्रवाई का आश्वासन दिया था। इस के दौरान कोविड प्रभारी व प्रदेश खाद्य मंत्री व अनूपपुर विधायक बिसाहूलाल सिंह के साथ बैठक में कलेक्टर द्वारा इस मामले को रखते हुए मशीन। जिले का नाम भी शामिल कर लिया में गया है। सम्भावना है कि जल्द ही अनूपपुर जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन उपलब्ध हो जाएंगे। सीएमएचओ डॉ. एससी राय ने का बताया कि कोविड तैयारियों के लिए पूर्व में प्रदेश कोविड प्रभारी व खनिज की मांग की गई थी। खुद प्रदेश खाद्य मंत्री ने जिला चिकित्सालय निरीक्षण में मरीजों से बातचीत कर मशीन की आवश्यकता बताते हुए आश्वासन दिया था। जिसके बाद अब शासन द्वारा अनूपपुर जिले के नाम को सूची में शामिल किया है। जल्द ही जिला चिकित्सालय में सिटी स्कैन मशीन उपलब्ध हो जाएंगे। जिससे मरीजों को अब अन्य जिले की ओर रूख नहीं करना होगा। ज्ञात हो कि हिन्दुस्थान समाचार ने 26 अप्रैल को सिटी स्कैन के अभाव में कोरोना संक्रमित के इलाज में परेशानी का उल्लेख करते हुए शहडोल मेडिकल कॉलेज द्वारा गम्भीर मरीजों को अपने यहां भर्ती करने से मनाही की जानकारी दी थी। साथ ही बताया था कि इस विकट परिस्थितियों में अनूपपुर जिला चिकित्सालय गम्भीर मरीजों की जांच के लिए शहडोल के निजी सेंटर से रोजाना 3-4 मरीजों को भेजकर उनकी जांच करा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला