The commissioner inspected the works under construction, gave necessary instructions
The commissioner inspected the works under construction, gave necessary instructions
मध्य-प्रदेश

कमिश्नर ने किया निर्माणाधीन कार्यों का निरीक्षण, दिये आवश्यक निर्देश

news

सागर, 09 जनवरी (हि.स.)। सागर संभाग के कमिश्नर मुकेश शुक्ला ने शनिवार को नगर निगम कमिश्नर आरपी अहिरवार के साथ नगर निगम द्वारा किये जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों का औचक निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर उपायुक्त डॉक्टर प्रणय कमल खरे, विजय दुबे सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे। उन्होंने प्रमुख रुप से खुरई बस स्टैंड, काकागंज ट्रेफिक पार्क, राहतगढ़ फ्लाईओवर के नीचे स्लम एरिया, कनेरा देव मेनपानी में बन रहे आवासीय परिसरों का निरीक्षण किया और निर्देश दिए कि काकागंज ट्रैफिक पार्क में स्कूली बच्चों के लिए ट्राफिक स्कूल प्रारंभ की जाए, जिससे उनको वाहन चलाने में आसानी हो सके। उन्होंने इसके लिए जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला परियोजना अधिकारी एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से आपस में समन्वय कर उक्त कार्य शीघ्र करने के निर्देश दिए। उन्होंने काकागंज ट्रैफिक पार्क का संपूर्ण कार्य 30 मार्च के पूर्व करने के साथ ही काकागंज का ट्रैफिक पार्क तक पहुंचने के लिए रोड निर्माण के भी निर्देश दिए। कमिश्नर शुक्ला ने राम मनोहर लोहिया पार्क एवं वोट क्लब का भी निरीक्षण कर निर्देश दिए कि यहां पर सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। खुरई बस स्टैंड निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि बस स्टैंड के मुख्य द्वार को और चौड़ीकरण किया जाए, जिससे आने जाने वाली बसों को असुविधा ना हो और ट्रैफिक जाम ना हो सके। उन्होंने कन्नेरादेव पहुंचकर वहां बन रहे 125 ब्लॉकों का निरीक्षण किया, जिसमें उन्होंने निर्देश दिए कि संपूर्ण आवासी परिसर में पेयजल ,विद्युत व्यवस्था ,सीवरेज ,एवं सडक़ का विशेष ध्यान रखा जाए एवं सीवरेज व्यवस्था ऐसी हो जिससे भविष्य में किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। उन्होंने आवासीय परिसर के लिए ओवरहेड टैंक पानी की व्यवस्था डुगडुगी पहाड़ी पर बनी टंकी से से करने के भी निर्देश दिए। कमिश्नर शुक्ला ने राजघाट पहुंचकर राजघाट की पेयजल सप्लाई का भी परीक्षण किया और निर्देश दिए कि अमृत योजना के तहत 24 घंटे 365 दिन पेयजल सप्लाई का कार्य शीघ्र गति से किया जावे शहर वासियों को शीघ्र ही 24 घंटे 365 दिन पानी प्राप्त हो सके। सभी पंपों को दुरस्त रखा जावे एवं कभी भी एक पंप पर सप्लाई न की जाए। कमिश्नर शुक्ला ने शहर विकास के अंतर्गत विभिन्न निर्माणाधीन प्रोजेक्ट्स का निरीक्षण किया। उन्होंने शुरुआत अमृत पार्क से की। अमृत पार्क पहुँचकर उन्होंने वहाँ एंट्रेंस गेट से लेकर वॉकिंग एवं साइक्लिंग ट्रैक, चैपाटी एरिया, टिकट काउंटर, सैमी ओलंपिक स्विमिंग पूल, बेबी स्विमिंग पूल, बच्चों के लिए प्ले एरिया, बर्ड वॉचिंग साइट आदि के अंतरगत चल रहे कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि अमृतपाल योजना के अंतर्गत चल रहे समस्त निर्माण कार्यों को 30 दिनों के भीतर पूर्ण किया जाए जिससे शीघ्र इसे आम जनता के लिए खोला जा सके। उन्होंने बताया कि अमृत पार्क छोटी झील के किनारे स्थित है। लोकेशन के हिसाब से अमृत पार्क की स्थिति बहुत ही उपयोगी है। यहां से झील के दृश्य बहुत ही रमणीय हैं। यह पार्क शहर के बीचों-बीच आम जन को प्राकृतिक ऊर्जा से भरा एक स्थान उपलब्ध कराता है। इसका कार्य समय सीमा में पूर्ण किया जाए जिससे आमजन को इसका लाभ मिल सके। अमृत पार्क के निरीक्षण के पश्चात कमिशनर ने ट्रैफिक पार्क का भी निरीक्षण किया। यहां उन्होंने व्यवस्थाओं को देखने के पश्चात निर्देश दिए कि इस पार्क का उपयोग बच्चों, छात्रों आदि के लिए ट्रैफिक ट्रेनिंग सेंटर के कैंप लगाकर भी किया जा सकता है। इस पार्क के माध्यम से उन्हें ट्रेफिक नियमों से जुड़े अनुशासन के पाठ भी सिखाए जा सकते हैं। अत: ट्रेफिक पार्क को इस दिशा में विकसित किया जाए जिससे निकट भविष्य में यहाँ ट्रैफिक ट्रेनिंग सेंटर बनाया जा सके। उन्होंने मोती नगर चौराहे के समीप स्थित निर्माणाधीन ऑडिटोरियम को तीन महीने के भीतर, मार्च 2021 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ऑडिटोरियम का फ्रंट एरिया शीघ्रता से पूर्ण किया जाए साथ ही पार्किंग, कैंटीन आदि की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। ऑडिटोरियम के सफल संचालन हेतु फायर फाइटिंग 24 घंटे बिजली कनेक्शन आवागमन का निर्धारित स्थान आदि विभिन्न बिन्दु आवश्यकता है अत: इन पर विशेष ध्यान दिया जाकर जिम्मेदारी सुनिश्चित करें। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश-hindusthansamachar.in