भाजपा के छुटभैया नेताओं ने बनाया लोकतंत्र का मजाकः घनश्याम सनोडिया

भाजपा के छुटभैया नेताओं ने बनाया लोकतंत्र का मजाकः घनश्याम सनोडिया
the-bjp-leaders-made-fun-of-democracy-ghanshyam-sanodia

सिवनी, 21 जनवरी (हि.स.)। नगर से लगी ग्राम पंचायत डोरलीछतरपुर पंचायत पिछले 6 वर्षों में राजनीति का अखाडा बनकर रह गयी। पंचायत चुनाव का इतना बड़ा मजाक शायद ही किसी पंचायत में हुआ हो, वहां से निर्वाचित सरपंच साजिद खान को अनेक बार वित्तीय पावर से और अनेक बार सरपंच पद से पृथक किया गया। यह बात जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष धनश्याम सनोडिया ने कही सनोडिया ने गुरुवार को मीडिया को जारी बयान में कहा कि भला हो उच्च न्यायालय का जिसने हर बार साजिद खान को सरपंच पद पर बहाल किया। उच्च न्यायालय को ऐसा कोई ठोस सबूत जिला प्रशासन द्वारा पेश नहीं किया गया। जिला प्रशासन हमेशा भाजपा के ठेकेदारी कर रहे नेताओं के ईशारे पर साजिद खान को झूठे आरोप लगाकर पद से पृथक करने का काम किया गया। डोरलीछतरपुर में निवास कर रहें इन ठेकेदार के ईशारे पर कार्य करते रहें है और डोरलीछतरपुर पंचायत को लूटने का काम किया है। सनोडिया ने कहा कि साजिद खान के सरपंच बन जाने के बाद इन छुटभैया नेताओं की इस पंचायत में चलना बंद हो गयी, यही कारण है कि सत्ता में बैठे अपने आकाओं से जिला प्रशासन पर दबाव बनाकर बार-बार एक निर्वाचित जनप्रतिनिधि को पद से पृथक करने का काम किया। कुछ दिन पूर्व डोरलीछतरपुर की जनता की मांगो को लेकर जनता के साथ साजिद खान ने जनपद सीईओ का घेराव किया, भाजपा के छुटभैया नेताओं के ईशारे पर जनपद सीईओ द्वारा साजिद खान पर निराधार आरोप लगाकर, सरपंच पद से पृथक करने के लिए जिला पंचायत सीईओ को जांच प्रतिवेदन भेजा और भाजपा के बडे नेताओं ने जिला पंचायत सीईओ पर दबाव बनाकर साजिद खान को फिर एक बार पद से पृथक करने की कार्यवाही की। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय ने उक्त आदेश को निरस्त कर पुनः साजिद खान को डोरलीछतपुर का सरपंच पद पर बहाल किया। भाजपा के छुटभैया नेताओं में मायूसी है। उन्होंने लोकतंत्र का मजाक बना रखा है। हिन्दुस्थान समाचार/रवि-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.