सावधानी में छिपी है सबसे बड़ी सुरक्षा

सावधानी में छिपी है सबसे बड़ी सुरक्षा
the-biggest-security-is-hidden-in-caution

-गाइडलाइन का पालन करने से टूटेगी वायरस की चेन हरदा, 26 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना वायरस के संकट में प्रदेश सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन से इसका संक्रमण रोका जा सकता है। विश्व के अनेक देश इस बीमारी से जूझ रहे हैं।आज यह बीमारी भारतवर्ष में फैल चुकी है। जिला प्रशासन के अधिकारी आज लोगों को इसके प्रति जागरूक कर रहे हैं। लोग गाइडलाइंस का पालन करें तो यह बीमारी महामारी विकराल रूप नहीं ग्रहण कर पाएगी। टिमरनी एसडीओ पुलिस आरएस गहलोत ने कहा कि स्थानीय नागरिकों को इस बारे में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। आज हमें सख्ती से लॉकडाउन के नियमों का पालन करना चाहिए ताकि वायरस को फैलने से हम रोक सकें। लोगों को भीड़ वाले कार्यक्रमों में जाने से परहेज करना होगा। इससे वायरस को फैलने से रोका जा सकता है। आज घरों में रहना सबसे अधिक सुरक्षित उपाय है, जो अकेला रहेगा वही स्वस्थ रहेगा। जनसुनवाई प्रभारी उमाकांत वर्मा ने आमजन को समझाइश दी कि बीमारी से बचने का सबसे अच्छा उपाय सोशल डिस्टेंसिंग है। यदि सभी मिलकर कुछ दिन सोशल फिजिकल डिस्टेंसिंग अपना ली तो कोरोना की समस्या को हल की जा सकती है। आज शहरी क्षेत्र में तो लोग इन हिदायतों को मान रहे हैं। मगर गांवों में जागरूकता नहीं आई है। इस कारण शहरों से ज्यादा कोरोना के पॉजिटिव मरीज गांवों से ही आ रहे हैं। आज कुछ माह हमने ध्यान दे दिया तो काफी लाभ होगा। सहा.उपनिरीक्षक यातायात सोबरन सिंह पटेल ने कहा कि कोरोना को हराने हम सभी कमर कस लें। यदि हमने लॉकडाउन के नियमों का पालन किया तो यह बीमारी पूरी तरह कंट्रोल हो जाएगी। जहां.जहां भी लॉकडाउन के नियम का पालन हुआ है वहां.वहां इसके पीड़ितों का ग्राफ घटा है। इस बीमारी से बचने के लिए हमको मिलकर प्रयास करना होगा। आज लापरवाही के कारण मरीज बढ़ रहे हैं इससे उनका एक साथ इलाज करने में समस्या सामने आ रही है। सावधानी बरतना ही हमारी सबसे बड़ी सुरक्षा है। खिरकिया जनपद के समन्वयक अधिकारी संतोष पाटील ने कहा कि आज कोरोना संक्रमण में हमें स्वयं को सुरक्षित रखना आवश्यक है। आज यदि हम सुरक्षित है तो दूसरे भी सुरक्षित होंगे। इससे यह वायरस आसपास नहीं फैलेगा। यदि हमें बीमारी के संक्रमण से बचना है तो घरों पर रहें, बाहर मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तो इस बीमारी से बच सकते हैं। इस तरह जिले के अधिकारी और जनप्रतिनिधियों के साथ आम समाजसेवी नागरिक लोगों को समझाइश देकर कोरोना बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/प्रमोद सोमानी