target-to-deliver-water-to-27260-houses-through-64-tap-water-schemes-in-the-district
target-to-deliver-water-to-27260-houses-through-64-tap-water-schemes-in-the-district
मध्य-प्रदेश

जिले में 64 नलजल योजनाओं से 27260 घरों में पानी पहुंचाने का लक्ष्य

news

अनूपपुर, 04 मार्च (हि.स.)। वर्ष 2023 तक जिले के सभी ग्रामीण इलाकों में जल जीवन मिशन अभियान के अंतर्गत नलजल योजनाओं की रेट्रोफिटिंग तैयार कर पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा इसके लिए वृहद कार्ययोजना तैयार की है और कार्य स्वीकृत कराकर पेयजल योजना को क्रियान्वित किया जा रहा है। वर्ष 2020- 21 के लिए 64 योजनाओं की स्वीकृति प्राप्त कर ली गई है जिसके तहत 46.21 करोड़ की लागत से जिले के चारों विकासखंड में पानी टंकी का निर्माण, पाइप लाइन विस्तार कर घरेलू नल कनेक्शन द्वारा घर-घर जल पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी लोगों को पीने का पानी लेने के लिए कई किलोमीटर दूर जाना पड़ता है। इस समस्या को खत्म करने के लिए सरकार ने जल जीवन मिशन स्कीम शुरू की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2019 को मिशन की घोषणा की थी जून 2020 से योजना के लिए कार्य योजना बनाने का कार्य प्रारंभ हुआ जिसके बाद योजना को मूर्त रूप मिल गया है। अनूपपुर जिले में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्रामीणों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक ग्रामीण परिवार को दिसंबर 2023 तक क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन निर्धारित गुणवत्ता का पेयजल उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक ग्राम में जल जीवन मिशन अंतर्गत जिला और ग्राम स्तर पर जल एवं स्वच्छता मिशन का गठन किया गया है, जिसके अध्यक्ष कलेक्टर हैं। इसके अलावा अन्य विभागों के शासकीय अधिकारियों को सदस्य बनाया गया है। ग्रामीणों की सहभागिता निभाने के लिए ग्राम स्तर पर जल एवं स्वच्छता समिति का भी गठन किया गया है। जिले में क्रियान्वयन सहायता संस्था (आईएस ए) की नियुक्ति कर ली गई है जिसके द्वारा जिले के ग्रामों में ग्राम वासियों को पेयजल के उपयोग गुणवत्ता आदि से लेकर जलकर एवं संचालन संधारण का प्रशिक्षण दिया जा कर जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जाएंगी ताकि पेयजल योजना का बेहतर क्रियान्वयन हो सके। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अनुसार जल जीवन मिशन के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में जिले के चारों विकासखंड में विभाग को 27260 घरों में क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन करने का लक्ष्य मिला हुआ है वर्तमान में विभाग द्वारा 20500 घरों में घरेलू नल कनेक्शन का लक्ष्य प्राप्त भी कर लिया गया है। जिसमे अनूपपुर विकासखंड में 21, जैतहरी में 25 ,कोतमा में 8 और पुष्पराजगढ़ में 10 नल जल योजना स्वीकृत हुई है जिसके तहत गांव में जो भी बसाहट पेयजल व्यवस्था से वंचित रह गए हैं उन्हें भी योजना के दायरे में लिया गया है ताकि उस गांव का कोई भी व्यक्ति पानी की सुविधा से वंचित ना रहे। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री एसके साल्वे ने बताया कि इसके लिए निविदा आमंत्रित करने का कार्य पूरा हो जाने के बाद अधिकांश कार्यों के लिए कार्य आदेश भी जारी हो चुके हैं। जिसमे 64 योजनाओं में ग्राम चकेठी, बम्हनी, थानगांव, कुदरीटोला ,पथरौड़ी, सरई, उफरीकला, खजुरवार ,बस खली ,छुल्हा, पाली ,जमुड़ी, मेडियारास में कार्य पूरा कर लोगों को घरेलू नल कनेक्शन के जरिए पानी प्राप्त होने भी लगा है। इन गांव में 50 हजार से लेकर 3 लाख लीटर गैलन क्षमता की पानी टंकी निर्मित की गई है। उन्होंने बताया कि जल जीवन मिशन 2021-22 के लिए 50 नल जल योजना के प्रस्ताव और भेजे गए हैं जिसमें अनूपपुर विकासखंड में 12, जैतहरी 17, कोतमा 10 एवं पुष्पराजगढ़ में 21 योजना शामिल है। विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में चल रही नल जल योजना की गुणवत्ता की जांच करने और रिपोर्ट पश्चात उनके बेहतर क्रियान्वयन एवं भुगतान हेतु टीपीआई संस्था की नियुक्ति शीघ्र करने जा रही है। बताया गया अधिकांश नल जल योजना भुगतान यानी जलकर की अदायगी न होने के कारण बंद हो जाती है इसके लिए हर गांव में जल व स्वच्छता समिति का गठन किया जा रहा है। ग्रामसभा कर जलकर का निर्धारण किया जा रहा है जिससे गांव के लोग इसके क्रियान्वयन में सहभागी बने ताकि सभी को पानी की निरंतर उपलब्धता बनी रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला