नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर ने दिया इस्तीफा
नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर ने दिया इस्तीफा
मध्य-प्रदेश

नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर ने दिया इस्तीफा

news

- मप्र शासन के प्रमुख सचिव ने जारी की अधिसूचना बुरहानपुर, 17 जुलाई (हि.स.)। नेपानगर की कांग्रेस विधायक सुमित्रा देवी कास्डेकर ने शुक्रवार को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद मप्र सरकार के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने अधिसूचना भी जारी कर दी, लेकिन इस्तीफा दिए जाने के बाद से ही विधायक का कहीं पता नहीं चल रहा है। उन्होंने अपना मोबाइल भी बंद कर लिया। जिसके बाद प्रदेश सहित जिले की राजनीति भी गर्मा गई है। कईं लोग उनके भाजपा में आने की अटकलें लगा रहे हैं तो कईं अन्य मामलों से भी इसे जोडकर देखा जा रहा है। गौरतलब है कि जिले में एकमात्र नेपानगर की विधायक ही कांग्रेस से थी। बुरहानपुर के निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह पहले ही कांग्रेस को अलविदा कहकर निर्दलीय चुनाव जीते थे। अब तक नेपानगर विधायक के इस्तीफा देने से कांग्रेस की स्थिति और खराब हो गई है। वहीं बताया जा रहा है कि विधायक कास्डेकर ने कांग्रेस संगठन को भी इसकी कोई जानकारी नहीं दी। जिलाध्यक्ष अजयसिंह रघुवंशी लगातार उनसे मोबाइल पर संपर्क करते रहे, लेकिन पहले तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया बाद में उनका मोबाइल बंद आया। ऐसे में तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं कास्डेकर की भाजपा में आने की तैयारी तो नहीं चल रही है। बिखर गया कांग्रेस का कुनबा: भाजपा जिलाध्यक्ष नेपानगर विधायक ने इस्तीफा दिया यह नई बात नहीं है। इससे पहले भी कईं विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। उन्होंने क्यों इस्तीफा दिया है यह तो वहीं जानें लेकिन कांग्रेस का कुनबा बिखर गया है। यह बात भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने शुक्रवार दोपहर नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर के इस्तीफा दिए जाने के बाद कही। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस के पास लीडरशीप नहीं बची। विधायक, नेता अच्छी पार्टी में जा रहे हैं। सिंधियाजी कांग्रेस के बडे नेता थे। जबसे उन्होंने भाजपा का दामन थामा तब से कईं लोग भाजपा में आ रहे हैं। अगर नेपानगर विधायक भाजपा की सदस्यता लेती है तो यह निर्णय पार्टी हाईकमान लेगी कि आगे क्या होगा। परंतु यह बात स्पष्ट हो चुकी है कि कांग्रेस का सुपडा साफ हो गया है। एक विधायक पार्टी छोड गई हैं तो वहीं इससे पहले बुरहानपुर विधायक निर्दलीय चुनाव लडकर कांग्रेस को नुकसान पहुंचा चुके हैं। लधवे ने कहा कि जिला स्तर पर नेपानगर विधायक ने मुझसे कोई संपर्क नहीं किया। यह उनका और उनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है। इस्तीफा क्यों दिया यह पता नहीं, लेकिन ज्वाइन करती हैं स्वागत है - मंजू दादू मामले में नेपानगर की पूर्व विधायक मंजू दादू ने कहा कि नेपानगर विधायक ने इस्तीफा क्यों दिया यह तो पता नहीं, लेकिन इतनी जानकारी मिली है कि वह इस्तीफा दे चुकी हैं। अगर वह पार्टी में आती हैं तो उनका स्वागत है। पार्टी जो निर्णय लेगी वह हमें मान्य होगा। हिन्दुस्थान समाचार / नीलेश-hindusthansamachar.in