साहब, मां अस्पताल में भर्ती है, जेल मत भेजो, पुलिस ने फोन लगाया तो बेटे को मां ने लगा दी फटकार

साहब, मां अस्पताल में भर्ती है, जेल मत भेजो, पुलिस ने फोन लगाया तो बेटे को मां ने लगा दी फटकार
sir-the-mother-is-hospitalized-do-not-send-her-to-jail-the-police-made-a-call-the-mother-reprimanded-the-son

गुना, 22 मई (हि.स.) । शहर के जय स्तंभ चौराहे पर नपा और पुलिस की टीम ने एक मोटर साइकिल सवार को रोक लिया। इस दौरान युवक से घर से बाहर निकलने का कारण पूछा तो उसने रोते हुए कहा कि उसके मां की तबीयत बहुत खराब है। अस्पताल में भर्ती है, इस बात पर जवानों ने युवक से कहा कि वह मोबाइल से अपनी मां से बात कराए। युवक कुछ देर तक चुप्पी साधे रहा, लेकिन जब पुलिस ने सख्ती दिखाई, तो युवक ने फोन लगाया। उधर से मोबाइल पर आवाज आई बेटा तुम कहां हो, पुलिस के जवान ने कहा कि यह जय स्तंभ पर खड़ा है, बेटे ने कहा कि आप अस्पताल में भर्ती हैं, जिस पर मां ने फोन पर बेटे को फटकार लगा दी। पुलिस ने झूठ बोलने वाले बेटे को खुली जेल में भेज दिया। शहर में हर रोज सैकड़ों की संख्या में लोग घरों से बेवजह निकल रहे हैं। हालात यह है कि शनिवार को नपा और पुलिस की टीम ने 71 लोगों को खुली जेल भेजा। तो वहीं कॉलोनियों और बाजार में घूमने वाले 94 लोगों के खिलाफ चालानी कार्रवाई कर 9400 रुपये का अर्थदंड लगाया है। सीएमओ तेज सिंह यादव ने बताया कि कॉलोनियों और मोहल्लों में मुनादी कराई जा रही है, लेकिन उसके बाद भी लोग घरों के बाहर घूमकर कोरोना कफ्यू का उल्लंघन कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर ग्राम पंचायतों में भी जिला प्रशासन अब अंकुश लगाने की तैयारी में जुटा है। पहले भेजा जेल, फिर खिलाए समोसा- कचौड़ी सीएमओ ने बताया कि खुली जेल में भेजने वाले 71 लोगों को समोसा कचोड़ी का नाश्ता भी कराया गया। साथ ही खुली जेल के भीतर शीतल पेयजल की व्यवस्था की गई। इस दौरान लोगों को एक लाइन में खड़ाकर आगे से बेवजह घर से न निकले की सलाह भी दी गई। इसी तरह शहर के घोसीपुरा में युवक एक चबूतरे पर बैठकर सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाए बिना ताश खेल रहे थे। नपा और पुलिस की टीम को देखकर युवक भाग खड़े हुए। उधर पुलिस ने मोटर साइकिल के माध्यम से घनी बस्तियों में सघन चैकिंग भी की। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक

अन्य खबरें

No stories found.