श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली से 382 बोरी अवैध यूरिया जब्त

श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली से 382 बोरी अवैध यूरिया जब्त
श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली से 382 बोरी अवैध यूरिया जब्त

बैतूल, 25 जुलाई (हि.स.)। खरीफ सीजन में यूरिया संकट के दौर में जिले के ग्रामीण अंचलों में कालाबाजारी की लगातार आ रही खबरों को गंभीरता से लेकर कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा कालाबाजारी करने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही है। चिचोली नगर में यूरिया खाद की कालाबाजारी को लेकर मिली पुख्ता सूचना के आधार पर शनिवार को कृषि विभाग के सहायक संचालक एवं गुण नियंत्रण जिला स्तरीय टीम के नोडल अधिकारी चेतन मातीखाय नेतृत्व में कृषि विभाग के अधिकारियों की टीम ने छापामार कार्यवाही कर श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली के प्रोपराइटर मनीष राठौर की दुकान एवं दुकान से सटे गोदाम से इंडियन पोटाश लिमिटेड की 382 बोरी अवैध यूरिया जब्त की है। जब्त यूरिया का बाजार मूल्य एक लाख एक हजार आठ सौ तीन रुपये बताया जा रहा है। कृषि विभाग की टीम द्वारा की गई बड़ी कार्यवाही से यूरिया की कालाबाजारी करने वालों में हड़कंप मचा हुआ है। भीड़ जमा होने पर लिया पुलिस का सहयोग चिचोली नगर में अवैध यूरिया के भंडारण एवं कालाबाजारी की पुख्ता सूचना के आधार पर शनिवार प्रात: 11 बजे सहायक संचालक कृषि बैतूल एवं गुण नियंत्रण की जिला स्तरीय टीम के नोडल अधिकारी चेतन मातीखाय के नेतृत्व में एसएडीओ चिचोली आरके कजोड़े, एडीओ पीआर खाड़े की टीम ने श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली की दुकान एवं गोदाम में छापामार कार्यवाही की गई। बताया जाता है कि कार्यवाही के दौरान भीड़ जमा होने से कार्यवाही करने में आ रही परेशानी के चलते नोडल अधिकारी ने चिचोली थाना पहुंचकर पुलिस को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराकर कार्यवाही के लिए पुलिस बल की मांग की। जिसके बाद पुलिस कर्मियों को लेकर कृषि विभाग को अधिकारियों ने श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र पहुंचकर दुकान एवं गोदाम की जांच पड़ताल करने पर इंडियन पोटाश लिमिटेड की 382 बोरी यूरिया का अवैध भंडारण करना पाया गया। 8 घंटे चली कार्यवाही गुण नियंत्रण जिला स्तरीय टीम के नोडल अधिकारी चेतन मातीखाय ने बताया कि श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली की दुकान एवं गोदाम में भंडारित मिली 382 बोरी यूरिया की खरीदी के संबंध में फर्म के प्रोपराइटर मनीष राठौर कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर पाये। जिसके चलते प्रथम दृष्टया यूरिया की कालाबाजारी के लिए कुटरचना का संदेहास्पद मामला प्रतीत होने पर 382 बोरी अवैध यूरिया को जब्त कर गोंडवाना सहकारी समिति चिचोली में भंडारित करवाकर सहकारी समिति के प्रबंधक की सुपुर्दगी मेें दिया गया। जिला स्तरीय गुण नियंत्रण टीम के नोडल अधिकारी सहायक संचालक कृषि चेतन मातीखाय ने बताया कि श्री सांई कृषि सेवा केन्द्र चिचोली में मिली 382 यूरिया के अवैध भंडारण के प्रकरण का विस्तृत प्रतिवेदन कलेक्टर को भेजा जायेगा। कलेक्टर के निर्देश पर आगे कार्यवाही की जायेगी। हिन्दुस्थान समाचार / विवेक सिंह भदौरिया-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.