Seminar on Innovation in Agricultural Sciences held at Mansarovar University
Seminar on Innovation in Agricultural Sciences held at Mansarovar University
मध्य-प्रदेश

मानसरोवर यूनिवर्सिटी में हुआ कृषि विज्ञान में नवाचार विषय पर सेमिनार

news

भोपाल, 09 जनवरी (हि.स.)। मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी के कृषि विभाग द्वारा शनिवार को ‘ कृषि एवं संबंधित विज्ञान में नवाचार ’ विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें उन्नत तकनीकों के माध्यम से कृषि के विकास पर विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही विद्यार्थियों को फार्म एक्टिविटी के माध्यम से तकनीकों के बारे में समझाया गया। सेमिनार का शुभारंभ करते हुए मुख्य अतिथि मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. अरूण कुमार पाण्डेय ने कहा कि कृषि को लाभकारी बनाने के लिए कृषि के क्षेत्र को अधिक से अधिक उन्नत तकनीकों और बहुफसली आधारित बनाने के साथ ही कृषि में नवाचार की भी आवष्यकता है। कृषि विभाग के डीन डॉ. संदीप बैनर्जी ने कहा कि आज हमारे देश के लिए ये बड़ी चुनौती है कि लगातार हो रहे जलवायु परिवर्तन और प्राकृतिक संसाधनों की कमी के बीच कृषि को उन्नत कैसे बनाया जाए। इसी कड़ी में विभागाध्यक्ष डॉ. सतीश शर्मा ने कहा कि आज वो दौर है जब जनसंख्या तो बढ़ रही है मगर ज़मीन हम सबके लिए सीमित है। विज्ञान विभाग की एच.ओ.डी. डॉ. प्रज्ञा सौरभ ने कहा कि किसानों को यदि धरती का भगवान कहा जाए तो यह अतिश्योक्ति नहीं होगी क्योंकि किसानों की उन्नति से ही देश की उन्नति संभव है। सहायक प्राध्यापक मेघा भार्गव ने आधुनिक तकनीक से फसल में लगने वाले कीट और बीमारियों के निदान के विषय में विस्तार से बताया। वहीं सहायाक प्राध्यापक संदीप धनवाने ने बताया कि रासायनिक कृषि की बजाय आज आर्गेनिक कृषि को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे प्रकृतिक संतुलित बनी रहे। अंत में मानसरोवर ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स के सी.ई.डी. गौरव तिवारी ने सेमिनार के सफल आयोजन के लिए कृषि विभाग को शुभकामनाएं दीं। सेमिनार में बड़ी संख्या में मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी के फेकल्टी मेम्बर्स और विद्यार्थीगण मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in