प्रमुख सचिव आहूजा ने कोरोना की समीक्षा, सतर्कता बरतने के निर्देश
प्रमुख सचिव आहूजा ने कोरोना की समीक्षा, सतर्कता बरतने के निर्देश
मध्य-प्रदेश

प्रमुख सचिव आहूजा ने कोरोना की समीक्षा, सतर्कता बरतने के निर्देश

news

नरसिंहपुर, 24 जुलाई (हि.स.)। जल संसाधन प्रमुख सचिव और जिले के प्रभारी डीपी आहूजा ने शुक्रवार को जिले के अधिकारियों की बैठक लेकर कोरोना वायरस संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर हमें और अधिक सतर्कता की आवश्यकता है। प्रमुख सचिव आहूजा ने कहा कि कोरोना के मरीजों की शीघ्र पहचान कर उनके सेंपल टेस्टिंग एवं प्रथम सम्पर्क में आने वाले मरीजों को पहचान कर एकांतवास करना, हाई रिस्क वाले क्षेत्रों में मास टेस्टिंग किया जाना आवश्यक है। उन्होंने निर्देशित किया कि जिले में प्रतिदिन 200 से अधिक सेंपल कलेक्शन कर उनकी टेस्टिंग कराई जाये। जितने अधिक टेस्ट होंगे, उतना ही हम कोरोना संक्रमण रोक सकेंगे। उन्होंने सेंपल लेने की प्रक्रिया और उसके बाद की जाने वाली कार्यवाही की विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सही व्यक्ति का सेंपल लिया जाये। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये, कि सेंपल रिजेक्शन की संख्या अधिक नहीं हो। आरआरटी एवं सर्वे टीम द्वारा की गई कांटेक्ट ट्रेसिंग की जानकारी सार्थक एप पर रोजाना अपडेट हो। बैठक में सिविल सर्जन डॉ. अनीता अग्रवाल एवं डॉ. गुलाब खातरकर द्वारा कोरोना वायरस के संबंध में सेंपल कलेक्शन, टेस्टिंग मशीनों की उपलब्धता एवं उनकी क्रियान्वयन क्षमता के बारे में जानकारी प्रदान की गई। प्रमुख सचिव को फीवर क्लीनिक में आये मरीजों की जानकारी भी दी गई। उन्होंने बताया कि कोविड मरीजों की जांच के लिए और सर्दी- खांसी एवं इससे संबंधित अन्य लक्षणों के लिए पृथक फीवर क्लीनिक संचालित किया जा रहा है। फीवर क्लीनिक में उनकी जांच की जाती है। प्रमुख सचिव ने कहा कि फीवर क्लीनिक में किस जगह से ज्यादा संदिग्ध केस आ रहे हैं, उसकी समीक्षा करें। स्क्रीनिंग के दौरान सुचारू रूप से प्रोटोकाल का पालन हो। इसके अलावा निजी चिकित्सालयों से अगर इस प्रकार के लक्षण वाले मरीज जिला चिकित्सालय में रेफर किये जा रहे हैं, तो इसकी मॉनीटरिंग हो। अगर रेफर करने के बाद मरीज जिला चिकित्सालय नहीं पहुंचा है, तो उसकी ट्रेसिंग की जाये। प्रमुख सचिव ने किया जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण प्रमुख सचिव डीपी आहूजा ने शुक्रवार को जिला चिकित्सालय नरसिंहपुर का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने जिला चिकित्सालय की सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं का जायजा लिया। डॉ. आहूजा ने कोरोना से बचाव की तैयारियों का जिला चिकित्सालय में अवलोकन किया और कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध सुविधाओं को देखा। उन्होंने वायोमेडिकल वेस्ट के कलेक्शन प्वाइंट एवं डिस्पोजल की जानकारी प्राप्त की। सिविल सर्जन डॉ. अनीता अग्रवाल द्वारा अवगत कराया गया कि चिकित्सालय में प्रतिमाह 500 से अधिक प्रसव हो रहे हैं। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि अस्पताल परिसर में भीड़ इकट्ठी न हो। मरीज एवं मरीज के परिजन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें एवं मास्क जरूर लगायें। उन्होंने कहा कि अस्पताल भवन की व्यवस्थायें बेहतर हैं। इसके लिए उन्होंने सराहना की। हिन्दुस्थान समाचार / संजय-hindusthansamachar.in