SECL gives notice to vacate international shooter Omkar Singh, vacant management
SECL gives notice to vacate international shooter Omkar Singh, vacant management
मध्य-प्रदेश

अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज ओंकार सिंह को एसईसीएल ने दिया आवास खाली करने का नोटिस, मुकरा प्रबंधन

news

अनूपपुर, 09 जनवरी (हि.स.)। वर्ष 2010 के कॉमनवेल्थ गेम में तीन स्वर्ण पदक देश विदेश में ख्याति प्राप्त करने वाले ओंकार सिंह को तत्कालीन एसईसीएल प्रबंधन जिला प्रशासन के समक्ष सम्मानित करते हुए आवास देने की घोषणा की थी। राष्ट्रीय स्तर से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर तक निशानेबाजी में देश का गौरव बढ़ाने पर भारत सरकार ने अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया जिनके पिता स्व. दिनेश सिंह एसईसीएल हाईस्कूल में शिक्षक के पद पर और दादा श्रतीदेव सिंह कॉलरी में कार्यरत थे। पिताजी के नाम पर भालूमाड़ॉ कॉलरी में आवास आवंटन कालरी द्वारा किया गया था। गत 8 जनवरी को एसईसीएल प्रबंधन द्वारा ओंकार सिंह को नोटिस देकर सात दिवस में आवास खाली करने की बात कहीं है। एसईसीएल प्रबंधन ने अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज ओंकार सिंह के नाम शनिवार को खान प्रबंधक मीरा इंक्लाइन के हस्ताक्षर से जारी नोटिस घर भेजकर कहा कि आपने कंपनी के गोविंदा कोतमा कॉलोनी में स्थित आवास क्रमांक एम/17 दो नंबर दफाई कोतमा कालरी में लगातार अनाधिकृत रूप से कब्जा करके रह रहे हैं, आपको सलाह दी जाती है कि सात दिवस के भीतर कब्जे वाला आवास खाली करके लिखित रूप से गोविंदा सुरक्षा विभाग को सुपुर्द कर दें अन्यथा आप पर पैनल रेंट की वसूली व कंपनी आवास खाली कराने की वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। नोटिस के पालन निर्दिष्ट अवधि के अंदर ना करने या इंकार करने की दशा में अधिकृत अधिकारी द्वारा उपरोक्त अधिनियम आवास से कब्जा इत्यादि को हटा दिया जाएगा और इसका व्यय आपसे भू राजस्व की बकाया राशि की तरह वसूल किया जाएगा। स्वर्ण पदक जीतने पर प्रबंधन ने आवास देने की की थी घोषणा वर्ष 2010 में दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेम में ओंकार सिंह ने निशानेबाजी में तीन स्वर्ण पदक जीतकर देश का नाम रोशन किया था जिसके बाद 25 दिसंबर 2010 को ओंकार सिंह के घर वापसी पर एसईसीएल प्रबंधन एवं अनूपपुर जिला प्रशासन ने ओंकार सिंह का सम्मान करते हुए जमुना कोतमा के तत्कालीन महाप्रबंधक ने एक ए-टाइप आवास दिये जाने की घोषणा की थी। लेकिन दस वर्ष बीतने के बाद भी ओंकार सिंह को आवास नहीं दिया गया बल्कि पिता के नाम पर आवंटित आवास को आवास खाली करने का नोटिस जारी कर दिया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in