राहु-केतु ने प्रदेश की जनता को छला, विकास पर लगाया ग्रहणः विजयवर्गीय
राहु-केतु ने प्रदेश की जनता को छला, विकास पर लगाया ग्रहणः विजयवर्गीय
मध्य-प्रदेश

राहु-केतु ने प्रदेश की जनता को छला, विकास पर लगाया ग्रहणः विजयवर्गीय

news

भोपाल, 17 जुलाई (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी द्वारा सुवासरा विधानसभा के लिए शुक्रवार को आयोजित वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव में राहु और केतु दोनों ने मिलकर प्रदेश की जनता को छला। इन्होंने किसानों की कर्ज माफी, बेरोजगारों को भत्ता, स्व सहायता समूहों की कर्जमाफी, दूध पर सब्सिडी जैसी पता नहीं कितनी घोषणाएं की। इन्होंने वचन पत्र बनाकर सिंधिया जी को थमा दिया और उनसे पूरे प्रदेश में घोषणाएं कराई। राहु की छाया में केतु मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे। इनकी सरकार 15 महीने चली लेकिन इन 15 महीनों में राहु-केतु के कारण प्रदेश के विकास पर ग्रहण लग गया था। सिंधिया जी ने जब इनसे घोषणाएं पूरी करने को कहा, तो इन्होंने कहा कि सड़क पर आ जाओ। सिंधिया जी तो सड़क पर नहीं आए, कमलनाथ की सरकार सड़क पर आ गई। राहु और केतु के बीच से सूर्य बाहर आ गया। अच्छे लोग सही पार्टी में आ गए। विचारधारा से प्रभावित होकर आ रहे लोग विजयवर्गीय ने कहा कि आज कांग्रेस की एक और विधायक ने इस्तीफा दे दिया। इससे पहले बड़ा मलहरा के विधायक लोधी भी इस्तीफा दे चुके हैं। अभी कई और विधायक कतार में हैं। मैं यह बताना चाहता हूं कि भारतीय जनता पार्टी की तरफ अन्य दलों से जो प्रवाह चल रहा है, वह क्यों है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की राजनीतिक यात्रा भारतीय जनसंघ से शुरू हुई। यह यात्रा एक विचारधारा की यात्रा थी। 10 लोगों से शुरू हुआ एक संगठन आज 20 करोड़ सदस्यों वाला सबसे बड़ा राजनीतिक दल है। इस दल में व्यक्ति का नहीं, देश और विचारधारा का महत्व है। पंडित दीनदयाल जी ने कहा था हमारे लिए पहले देश फिर दल। पार्टी की इसी विचारधारा से प्रेरित होकर अन्य दलों के लोग भाजपा की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। हमें गर्व है कि देश का नेतृत्व मोदी जी के सशक्त हाथों में हैं विजयवर्गीय ने कहा कि हमें इस बात पर गर्व है कि देश का नेतृत्व मोदी जी के सशक्त हाथों में है। उनके नेतृत्व में देश विश्वगुरु बनने की ओर बढ़ चला है। विजयवर्गीय ने कहा कि 2014 के पहले हमारे देश की पहचान घोटालों के देश के रूप में होती थी। 2 जी, 3 जी, जीजाजी और पता नहीं कितने घोटाले हुए। 2014 में जनता ने मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाया। उसके बाद के 6 सालों में कांग्रेस के लोग अपनी तमाम कोशिशों के बावजूद मोदी सरकार पर एक भी आरोप नहीं लगा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट में सारी दुनिया की हालत खराब है, लेकिन देश में निराशा नहीं है। नुकसान तो हुआ, लेकिन हमारे नेता ने सही समय पर सही निर्णय लेकर देश को बचा लिया। कहते हैं कि चीन की सेना आगे बढ़ने के बाद वहां से वापस नहीं आती, लेकिन मोदी जी के सामने चीन दूसरी बार पीछे हट रहा है। हमें इस बात पर गर्व है। मोदी जी जहां भी जाते हैं मोदी-मोदी की आवाजें सुनाई देती हैं। प्रधानमंत्री मोदी जी दुनिया में 130 करोड़ भारतीयों का मान बढ़ाने का काम कर रहे हैं। भाजपा सरकार ने आगे बढ़ाया विकास का रथ राष्ट्रीय महासचिव विजयवर्गीय ने कहा कि 2003 के पहले 10 सालों तक प्रदेश में दिग्विजय सिंह की सरकार थी। इस सरकार ने प्रदेश का बंटाधार कर दिया। प्रदेश में बिजली, पानी, सड़क नहीं थी। कानून-व्यवस्था चौपट हो गई थी। उमा जी के नेतृत्व में प्रदेश की जनता ने बंटाधार सरकार को गिरा दिया। इसके बाद आई भाजपा की सरकार ने प्रदेश में सुविधाएं जुटाना शुरू किया और विकास का रथ आगे बढ़ाया। शिवराज जी की सरकार ने समाज के हर वर्ग की चिंता की। किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने की बात हो, फसल बीमा, बुजुर्गों को तीर्थ कराने, गांव की बेटियों को शिक्षित करने और उनके हाथ पीले करने की बात हो, शिवराज सरकार ने हर बात की चिंता की। विजयवर्गीय ने कहा कि शिवराज जी प्रदेश के मुख्यमंत्री बने रहें और मोदी जी के मार्गदर्शन में प्रदेश का विकास करते रहें, यह चुनाव इसी को सुनिश्चित करने का चुनाव है। इसलिए मेरा आप सभी से आग्रह है कि इस बार भारतीय जनता पार्टी को सुवासरा क्षेत्र में कम से कम 50000 वोटों से जीत दिलाएं और शिवराज जी के हाथ मजबूत करें। कमलनाथ ने 15 महीनों में 15 सेकंड का समय नहीं दियाः डंग मध्यप्रदेश शासन के मंत्री हरदीप सिंह डंग ने कहा कि मुझे शिवराज सिंह चौहान और कमलनाथ के साथ काम करने का मौका मिला। मैंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार और कांग्रेस सरकार में यह फर्क देखा कि भाजपा विकास आधारित दल है। जब कांग्रेस की सरकार बनी, तब मुझे यह आशा थी कि मैं विधानसभा क्षेत्र में ज्यादा विकास कार्य करवाऊंगा। लेकिन जब भी कमलनाथ जी से मिलता तो उनके पास विधायकों को सुनने का टाइम नहीं होता था। उन्होंने 15 महीने में 15 सेकंड भी मुझे नहीं दिए। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई सुवासरा के विकास की लड़ाई है। वर्चुअल रैली में स्वागत भाषण जिला अध्यक्ष नानालाल अटोलिया ने दिया एवं संचालन विजय अटवाल ने किया। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वर्चुअल रैली के प्रभारी विजेश लुणावत, पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार सहित नेतागण उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in