Program will be held in Bhopal in memory of Rani Kamalapati every year: fair: Shivraj
Program will be held in Bhopal in memory of Rani Kamalapati every year: fair: Shivraj
मध्य-प्रदेश

भोपाल में प्रतिवर्ष होगा रानी कमलापति की स्मृति में कार्यक्रम, लगेगा मेला : शिवराज

news

सौंदर्यीकरण और विकास की अगले 5 वर्ष की योजना तैयार भोपाल में 115 करोड़ रूपए के कार्यों का मुख्यमंत्री चौहान ने किया लोकार्पण भोपाल, 29 दिसम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बलिदानियों का स्मरण जरूरी है। भोपाल में रानी कमलापति की प्रतिमा की स्थापना उनके बलिदान के प्रति आमजन द्वारा अभिव्यक्त किया गया सम्मान है। देश की स्वतंत्रता के लिए जो शहीद हुए, उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करना आवश्यक है। मध्य प्रदेश के गोंड राजाओं और रानियों का स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। यह बात मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को भोपाल में आर्च ब्रिज के लोकार्पण के अवसर पर कही। कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह, प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा भी उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि रघुनाथ शाह, शंकर शाह, रानी दुर्गावती आदि का बलिदान इतिहास में दर्ज है। रानी कमलापति ने अपने 14 वर्षीय पुत्र नवल शाह को युद्ध भूमि में संग्राम के लिए भेजा जो शहीद हुए थे। इसके पश्चात स्वयं सम्मान और स्वाभिमान के खातिर रानी ने जौहर किया। भोपाल की झील में उन्होंने जल समाधि ली। भारतीय संस्कृति में ऐसे बलिदान याद रखे जाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल में प्रतिवर्ष रानी कमलापति की स्मृति में कार्यक्रम होगा, जिसमें प्रदेश के गोंडवाना अंचल के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि भोपाल के संस्थापक राजा भोज की झील के पास प्रतिमा स्थापित की गई थी। इसी श्रंखला में रानी कमलापति की प्रतिमा की स्थापना नागरिकों के लिए गर्व का विषय है। भोपाल होगा सबसे स्वच्छ और सुंदर शहर मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल की सुंदरता और स्वच्छता में वृद्धि के लिए निरंतर प्रयास होंगे। अगले 5 वर्ष की विकास और सौन्दर्यीकरण की योजना भी तैयार की गई है। इसे जल्दी ही आम जनता के समक्ष लाया जाएगा। भोपाल के जलाशयों को बचाया जाएगा। उन्हें हम मल का भंडार नहीं बनने देंगे। भोपाल में इसी उद्देश्य से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं। भोपाल को देश का सबसे स्वच्छ एवं सुंदर शहर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आलोक शर्मा बधाई के पात्र हैं जिन्होंने इसके लिए निरंतर प्रयास किए। भोपाल की अपनी पहचान है। इसके विकास में लगा ग्रहण समाप्त हो गया है। हमारी सरकार भोपाल के विकास को दोगुनी गति से संपन्न करवाएगी। मुख्यमंत्री ने नागरिकों से आह्वान किया कि कोरोना से बचाव की सावधानियां अपनाते रहे। शीघ्र ही वैक्सीन लगाने का कार्य प्रारंभ होगा जिसमें निर्धन तबके को यह सुविधा नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी। कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि आज नए और पुराने भोपाल को जोड़ने के लिए इस ब्रिज का शुभारंभ हुआ है, जो महत्वपूर्ण सौगात है। पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि रानी कमलापति के बलिदान की गाथा से भोपाल के नागरिक परिचित हैं। हमारा समाज वीरांगनाओं का सम्मान करता है। इसलिए ही रानी कमलापति की प्रतिमा स्थापना की पहल की गई। भोपाल की सांसद साधवी प्रज्ञा ठाकुर ने मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में भोपाल और प्रदेश के विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों को महत्वपूर्ण बताया। इस अवसर पर विधायक कृष्णा गौर, भगवानदास सबनानी, सुमित पचौरी आदि उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कुल 115 करोड़ रूपए के कार्यों का शुभारंभ किया। आज जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, वे इस प्रकार हैं। स्मार्ट पार्क मुख्यमंत्री ने सबसे पहले स्मार्ट पार्क का लोकार्पण किया। श्यामला हिल्स एवं पॉलिटेक्निक चौराहे की ओर जाने वाली सड़क के बीच बंजर पड़ी पहाड़ी को स्मार्ट पार्क का रूप दिया गया है। यह पार्क 11 एकड़ भूमि में विकसित है। स्मार्ट पार्क की लागत लगभग 7 करोड़ है। स्मार्ट रोड मुख्यमंत्री ने भारत माता चौराहे से पॉलिटेक्निक चौराहे तक 43 करोड़ से निर्मित स्मार्ट रोड का भी लोकार्पण किया। यह 30 मीटर चौड़ी सड़क है। इसकी लंबाई लगभग सवा दो किलोमीटर है। यह चार लेन वाली सड़क है। सड़क के साइड में साइकिल ट्रैक भी बनाया गया है। इस सड़क को 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के मान से डिजाइन किया गया है और यह पुराने भोपाल को नए भोपाल से जोड़ने का काम करेगी। जाटखेड़ी ट्रांसफर स्टेशन मुख्यमंत्री चौहान ने शहर को स्वच्छ रखने के लिए जाटखेड़ी में कचरा ट्रांसफर स्टेशन का भी लोकार्पण किया। इसमें ठोस अपशिष्ट निष्पादन के लिए 3 आधुनिक मशीनें लगाई गई हैं। पाँच करोड़ लागत के इस ट्रांसफर स्टेशन के बनने से साकेत नगर, शक्ति नगर और बाग मुगालिया और आसपास के क्षेत्रों को फायदा होगा। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट चौहान ने अमृत मिशन के तहत शिरीन नदी पर बनाये गए 50 एम.एल.डी. क्षमता के सीवेज वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लोकार्पण का किया। इस प्लांट पर 20 करोड़ रुपये की लागत आयी है। मुख्यमंत्री चौहान ने यहीं साढ़े 11 करोड़ की लागत वाले चार इमली सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट को भी लोकार्पित किया। उन्होंने प्लांट का मुआयना भी किया और सीवेज के पानी को ट्रीटमेंट से साफ कर तालाब में पानी छोड़ने के कार्य को भी देखा। आर्च ब्रिज मुख्यमंत्री ने लोकार्पण की श्रृंखला के अंत में रानी कमलापति आर्च ब्रिज का लोकार्पण किया। लगभग चालीस करोड़ लागत के इस ब्रिज से भोपाल सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों से आने वाले लोगों को फायदा मिलेगा। गिन्नौरी से किलोल पार्क के नजदीक बीआरटीएस कॉरिडोर तक स्टील आर्च ब्रिज की कुल लंबाई 200 मीटर है। इसके दोनों तरफ 534 मीटर की एप्रोच रोड बनाई गई है। आर्च ब्रिज की चौड़ाई 10.75 मीटर और आर्च की ऊंचाई 30 मीटर है।ब्रिज के दोनों तरफ 2 मीटर का फुटपाथ का भी निर्माण किया गया है। समारोह के दौरान ही यू.एन.आई.डी.ओ. के सहयोग से 30 करोड़ रुपये की लागत से सी.एन.जी. प्लांट बनाने के लिए भी अनुबंध किया गया। आदमपुर छावनी क्षेत्र में वेस्ट ट्रीटमेंट प्लांट पर यह इकाई स्थापित होगी। हिन्दुस्थान समाचार / उमेद-hindusthansamachar.in