Poisonous alcohol case, three villagers died at night
Poisonous alcohol case, three villagers died at night
मध्य-प्रदेश

जहरीली शराब मामला, तीन ग्रामीणों की हुई रात को मौत

news

जहरीली शराब मामला, मृतक संख्या पहुंची 24 पर मुरैना, 14 जनवरी (हि.स.)। जहरीली शराब का सेवन करने वालों की मौत का सिलसिला क्या शुरू हुआ कि थमने का नाम ही नहीं ले रहा। मानपुर व छैरा गांव में स्थित शमशान में एक आग बुझ भी नहीं पा रही कि जब तक दूसरा शव पहुंच जाता है। बीती रात को भी तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दो छैरा गांव के हैं एवं एक पास के ही गांव का। इन तीनों मौतों को मिलाकर मृतकों का आंकड़ा 24 पर पहुंच गया। खासबात यह है कि जिन लोगों की मौत हुई है वह अस्पताल में भर्ती नहीं थे। बल्कि अपने घरों से ही गंभीर हालात में अस्पताल के लिए रवाना हुए और अस्पताल में पहुंचते पहुंचते उन्होंने दम तोड़ दिया। जहरीली शराब का सेवन करने वाले तीन और लोगों की बुधवार रात को मौत हो गई। इनमें से एक व्यक्ति को तो परिजन मृत अवस्था में ही लेकर आए थे वहीं दो ने कुछ देर बाद दम तोड़ दिया। छैरा गांव निवासी रमेश बाल्मीक पुत्र चिलोई बाल्मीक, पंजाब सिंह किरार पुत्र किशनचंद किरार तथा जैतपुर रैपुरा निवासी कैलाश बाल्मीक पुत्र रामसेई बाल्मीक है। इनमें से रमेश बाल्मीक व कैलाश बाल्मीक आपस में रिश्तेदार हैं। सूत्रों का कहना है कि रमेश बाल्मीक ने गुमटी से शराब खरीदकर खेत में करब पर बैठकर शराब पी थी और वह वहीं बेहोश हो गया। बुधवार की रात परिजनों को जब जानकारी हुई तो वह उसे बेहोश समझ समझकर जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। तीन लोगों की मौत से अब यह सवाल भी उठने लगा है कि ऐसे और कितने लोग होंगे जो खराब हालात होने पर भी अपने घरों पर ही मौजूद हैं। छैरा व मानपुर के ग्रामीणों की मानें तो ऐसे अभी दो दर्जन लोग और हैं जिनकी तबियत खराब है, लेकिन परिजनों के भय की वजह से वह इस बात को बता नहीं रहे हैं। उधर जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों में से कुछ की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। उधर रात को मरने वाले तीनों ग्रामीणों का गुरुवार सुबह पोस्टमार्टम हुआ। तत्पश्चात एम्बूलेंस से उनके शवों को छैरा गांव भेजा गया। दोपहर में इनका अंतिम संस्कार हो सका। हिन्दुस्थान समाचार/शरद-hindusthansamachar.in