ग्रामीण विकास का आधार हैं पंचायत सचिव : गृह मंत्री डॉ. मिश्रा

ग्रामीण विकास का आधार हैं पंचायत सचिव : गृह मंत्री डॉ. मिश्रा
panchayat-secretary-is-the-basis-of-rural-development-home-minister-dr-mishra

भोपाल, 02 अप्रैल (हि.स.)। ग्रामीण क्षेत्रों में शासन की कल्याणकारी एवं हितग्राही मूलक योजनाओं की जानकारी आम व्यक्ति तक पहुँचाने और उसका लाभ दिलाने में पंचायत सचिवों की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। यह बात प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा शुक्रवार को दतिया में मध्यप्रदेश पंचायत संगठन दतिया द्वारा आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पंचायत सचिव ही ग्रामीण विकास का आधार हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता पंचायत सचिव संगठन के प्रदेश अध्यक्ष दिनेशचंद्र शर्मा ने की। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पंचायत सचिव ग्रामीण जनता से सीधे संपर्क में रहते हैं। उनसे जनता को सहयोग की अपेक्षा रहती हैं। डा. मिश्रा ने समझाईश दी कि पंचायत सचिव जनता के साथ पूरे संयम एवं गंभीरता के साथ बातचीत करें। अपने कार्य के दौरान वाणी एवं शब्दों पर भी नियंत्रण रखें। ग्रामीणों से मधुर एवं सदभाव पूर्वक व्यवहार कर उनकी समस्याओं का निराकरण करें। उन्होंने कहा कि पंचायत सचिवों की कार्यशैली से जनता ने महसूस करना चाहिए कि आप उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए उनकी सेवा कर रहे हैं। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने आश्वस्त किया कि पंचायत सचिवों की समस्याओं का शासन पूरी गंभीरता एवं संवेदनशीलता के साथ निराकरण करने का प्रयास करेगा। उन्होंने कहा कि वे पंचायत सचिवों के हित में शासन स्तर पर बात रखेंगे। मास्क का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें गृह मंत्री ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए मास्क का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें, भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में न जाएं, अति-आवश्यक कार्य होने पर ही घर से निकलें। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में कोरोना का टीका अवश्य लगवाएँ। कार्यक्रम में सुरेन्द्र बुधौलिया, रजनी पुष्पेन्द्र रावत, पूर्व विधायक प्रदीप अग्रवाल, घनश्याम पिरोनिया, आशाराम अहिरवार, रीता सतीश यादव, विपिन गोस्वामी, योगेश सक्सेना, सहित समस्त सचिव एवं जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश