महामारी पर नियंत्रण के लिए जारी आदेशों की समीक्षा की जाए, जनशक्ति संस्था ने की मांग

महामारी पर नियंत्रण के लिए जारी आदेशों की समीक्षा की जाए, जनशक्ति संस्था ने की मांग
orders-issued-to-control-the-epidemic-should-be-reviewed-manpower-institution-demands

रतलाम,04 मई (हि.स.)। सामाजिक संस्था जनशक्ति के संयोजक राधावल्लभ खण्डेलवाल ने कलेक्टर को पत्र लिखकर कोरोना महामारी पर नियंत्रण हेतु लिए गए निर्णय के परिणामों की समीक्षा करने कि मांग की है। खण्डेलवाल ने बताया कि परिस्थितियों के अनुसार नित नए निर्णय प्रशासन ले रहा है, लेकिन सकारात्मक परिणाम नहीं आने पर आदेशों में संशोधन की भी आवश्यकता है। उदाहरण के लिए अस्पताल के नजदीक की दुकानों को छोड़कर शेष दवाई की दुकानों को प्रात: 10 से दोपहर 4 बजे तक खुले रखने के निर्देश दिए हैं। इस निर्णय में संशोधन किया जाना चाहिए, क्योंकि 4 बजे बाद दवाई की आवश्यकता होने पर कई लोगों के पास अस्पताल के आसपास दवाई की दुकानों पर जाने के लिए साधन नहीं मिलते और मैजिक भी बंद हैं और ऐसी स्थिति में क्या वह अगले दिन प्रात: 10 बजे तक का इंतजार करेगा। इतने में तो मरीज की स्थिति क्या होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। यदि कोई संक्रमित है तो वह कई किलोमीटर घूमेगा, संक्रमण बढ़ाएगा तथा उसे जगह-जगह पुलिस रोकेगी और चार बात सुनाकर वापस भगा देगी। खंडेलवाल ने कहा कि वर्तमान में आम नागरिक दवाई के लिये परेशान हो रहे हैं। अपनी पीड़ा प्रशासन तक नहीं पहुँचा पा रहे हैं। हम सामाजिक संस्था के प्रतिनिधि हैं। जरूरतमंद के बीच जाकर सेवा देते हैं, उनकी व्यथा सुनते हैं वो प्रशासन तक पहुँचाते हैं। खंडेलवाल ने प्रशासन से अनुरोध किया है कि लिये गये निर्णय की समीक्षा करें कि जनता के हित में लिये गये निर्णय कहीं उल्टे परिणाम तो नही दे रहे हैं। हिंदुस्थान समाचार / शरद जोशी