21 जून को दिन रहेगा 13 घण्टे 34 मिनट का और रात होगी 10 घण्टे 26 मिनट की

21 जून को दिन रहेगा 13 घण्टे 34 मिनट का और रात होगी 10 घण्टे 26 मिनट की
on-june-21-the-day-will-be-of-13-hours-34-minutes-and-the-night-will-be-of-10-hours-and-26-minutes

सूर्योदय होगा प्रात: 5.42 बजे तथा सूर्यास्त होगा शाम 7.16 पर उज्जैन,20 जून (हि.स.)। 21 जून को दिन सबसे बड़ा होगा और रात सबसे छोटी होगी। ऐसा वर्ष में एक बार होता है,जिसे जीवाजी वेधशाला,उज्जैन के यंत्रों पर देखा जा सकता है। कल से ही सूर्य दक्षिणायन होना शुरू हो जाएगा। दिन तिल-तिलकर छोटा होता जाएगा तथा रात बड़ी होती जाएगी। यही आनेवाले समय में शरदकाल और बाद में शीत ऋतु की द्योतक होगी। जीवाजी वेधशाला,उज्जैन के प्रभारी अधीक्षक डॉ.आर.पी.गुप्त के अनुसार कल 21 जून को प्रात: 5.42 पर सूर्योदय होगा और शाम 5.42 बजे सूर्यास्त होगा। इस प्रकार दिन 13 घण्टे 34 मिनिट का होगा। इसी प्रकार रात 10 घण्टे 26 मिनिट की होगी। उन्होंने बताया कि 21 जून के बाद से सूर्य दक्षिणायन होना शुरू हो जाएगा। गर्मी का संताप समाप्त होने लगेगा वहीं दिन तिल-तिलकर छोटा होने लगेगा। रात धीरे-धीरे बड़ी होने लगेगी। यह क्रम 23 सितंबर तक चलेगा। इस दिन दिन एवं रात बराबर हो जाएंगे। इसके बाद रात और बड़ी तथा दिन और छोटा होने लग जाएगा। क्यों होता है ऐसा....? डॉ.गुप्त ने बताया कि पृथ्वी के सूर्य के चारों ओर भ्रमण के कारण 21 एवं 22 जून को सूर्य उत्तरी गोलार्ध में कर्क रेखा पर लम्बवत होता है। कर्क रेखा की स्थिति करीब 23 डिग्री 26 मिनट उत्तरी अक्षांश पर है। 21 जून को सूर्य की क्रांति 23 डिग्री,26 मिनट 15 सेकण्ड उत्तर रहेगी। इस वर्ष यह सूर्य की चरम स्थिति रहेगी। उज्जैन कर्क रेखा के नजदीक है। अत: 21 जून को सूर्य की किरणें दोपहर 12.28 बजे लम्बवत होने के कारण परछाई शून्य हो जाएगी। इसे जीवाजी वेधशाला के शंकु यंत्र पर देखा जा सकता है। यही कारण है कि इस दिन सूर्य अपने अधिकतम उत्तरी बिंदु कर्क रेखा पर होने के कारण उत्तरी गोलार्ध में दिन बड़ा और रात्रि छोटी होगी। हिंदुस्थान समाचार/ललित ज्वेल

अन्य खबरें

No stories found.