नागपंचमी पर भगवान नागचंद्रेश्वर के ऑनलाइन होंगे दर्शन, मंदिर में प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित
नागपंचमी पर भगवान नागचंद्रेश्वर के ऑनलाइन होंगे दर्शन, मंदिर में प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित
मध्य-प्रदेश

नागपंचमी पर भगवान नागचंद्रेश्वर के ऑनलाइन होंगे दर्शन, मंदिर में प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित

news

उज्जैन, 23 जुलाई (हि.स.)। उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मंदिर की तीसरे तल पर स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट साल में एक बार नागपंचमी पर 24 घंटे के लिए खुलते हैं, लेकिन इस बार नागपंचमी पर श्रद्धालु मंदिर में पहुंचकर भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन नहीं कर पाएंगे। मंदिर प्रशासन ने नागपंचमी पर मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश को प्रतिबंधित कर दिया है। नागपंचमी पर भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन की आनलाइन व्यवस्था की गई है। महाकालेश्वर मंदिर प्रबंधन समिति के प्रशासक एवं अपर कलेक्टर एसएस रावत ने गुरुवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इस साल नागपंचमी पर्व 25 जुलाई को मनाया जायेगा। महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति की गत बैठक में लिये गये निर्णय अनुसार महाकाल मन्दिर के तृतीय तल पर स्थित नागचंद्रेश्वर महादेव मन्दिर में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। नागचंद्रेश्वर भगवान के दर्शन के लिये ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था रहेगी। परम्परा का निर्वहन करने के लिये नागचंद्रेश्वर भगवान की परम्परागत पूजन-आरती यथावत रहेगी। गौरतलब है कि नागपंचमी पर नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट 24 घंटे के लिए खुलते थे और इस दौरान हर साल लाखों श्रद्धालु भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन करते थे। नागपंचमी के अवसर पर अलसुबह से देर रात यहां दर्शन की व्यवस्था रहती थी, लेकिन कोरोना के चलते इस बार मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा व्यवस्था में परिवर्तन करते हुए मंदिर में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित किया है। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश तोमर/राजू-hindusthansamachar.in