मिनी स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के अपूर्ण कार्य अतिशीघ्र पूर्ण किए जाएः निगमायुक्त
मिनी स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के अपूर्ण कार्य अतिशीघ्र पूर्ण किए जाएः निगमायुक्त
मध्य-प्रदेश

मिनी स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के अपूर्ण कार्य अतिशीघ्र पूर्ण किए जाएः निगमायुक्त

news

रतलाम, 23 जुलाई(हि.स.)। शहर में मिनी स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के तहत चल रहे विभिन्न कार्यो का निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया ने गुरुवार को निगम, मध्यप्रदेश डवलपमेन्ट कम्पनी, शासन द्वारा नियुक्त पीडीएमसी (वाफकोस कम्पनी) , कन्सलटेन्ट व निविदाकार के इंजीनियरों के साथ निरीक्षण किया। निगम आयुक्त द्वारा निरीक्षण के दौरान मिनी स्मार्ट सिटी के सभी कार्य आधे-अधूरे या अप्रारंभ पाये जाने पर निविदाकार के इंजीनियरों को निर्देशित किया कि आधे-अधूरे कार्य से नागरिकों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है इसलिये वे कार्यो को पूर्ण करने हेतु दिन-रात कार्य करें इसके लिये निगम से जो भी सहयोग होगा दिया जायेगा। अमृत योजना के तहत विकसित किये जा रहे श्री कालिका माता उद्यान व अमृत सागर उद्यान के निरीक्षण के दौरान झारिया ने निविदाकार के इंजीनियर को निर्देशित किया कि उद्यान के टॉयलेट ब्लॉक की दिवाले , वाश बेसिन क्षतिग्रस्त है उन्हे उन्हे बदलकर नये लगाने, टॉयलेट की रंगाई-पुताई करवाने के साथ ही उद्यान में लगे पेवर ब्लॉको के बीच दूरी होने से घांस उग आई है इसलिये पेवर ब्लॉको को भी दुरस्त किया जाये । अमृत सागर उद्यान की पुरानी टॉय ट्रेन जो कि बंद हो चुकी है नवीन टॉय ट्रेन बनाने तथा उद्यान के राउण्ड प्लेटफार्म को जन उपयोग में लाने का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश सहायक यंत्री चन्द्रकान्त शुक्ला को दिये। उद्यानों के निरीक्षण के दौरान निगम आयुक्त ने निविदाकार के इंजीनियरों को निर्देशित किया कि जो कार्य शेष रहे है उन्हें अतिशीघ्र पूर्ण किये जाये। उन्होंने निगम के इंजीनियरो को निर्देशित किया कि जो कार्य पूर्ण हो चुके है व जो कार्य शेष है उसकी संपूर्ण जानकारी प्रस्तुत की जाये। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in