आज से शुरू होगी मण्डी, तिरपाल बेचनेवालों की आस बंधी

आज से शुरू होगी मण्डी, तिरपाल बेचनेवालों की आस बंधी
mandi-will-start-from-today-hope-for-tarpaulin-sellers

ग्रामीण क्षेत्रों से ही होती है बारिश के पूर्व तिरपाल की खरीदी उज्जैन, 08 जून (हि.स.)। जिला प्रशासन ने सोमवार को निर्णय लिया कि मंगलवार से मण्डी में कामकाज प्रारंभ हो जाए। इस निर्णय का समाचार सुनने के बाद शहर में तिरपाल का मौसमी व्यापार करनेवाले व्यापारियों के चेहरे खिल गए। उनके अनुसार बारिश पूर्व तिरपाल की मुख्य रूप से खरीदी ग्रामीण क्षेत्रों से ही होती है। अभी तक मण्डी बंद थी,इसलिए ग्राहकी का अभाव था। अब मण्डी शुरू होते ही ग्रामीण क्षेत्रों से किसानों का आना होगा और तिरपाल की बिक्री भी उठाव पर रहेगी। शहर में तिरपाल जिसमें मुख्य रूप से पॉलीथिन के विभिन्न गेजवाली बरसाती,फ्लेक्स आदि शामिल है,की बिक्री का मुख्य केंद्र नजरअली मिल मार्ग एवं फाजलपुंरा से गाड़ी अड्डा मार्ग पर है। यहां अलग-अलग किस्म की तिपारल/बरसाती उपलब्ध है। जिनके भाव 10 रू. मीटर से 300 रू. मीटर तक किस्म अनुसार है। इसके अलावा अब बारिश से वस्तुओं को बचाने के लिए फ्लेक्स का चलन शुरू हो गया है। पहले फ्लेक्स विज्ञापनवाले बिकते थे,जोकि विज्ञापन हटाने के बाद वेस्ट के रूप में रहते थे और कीमत कम रहती थी। अब फ्लेक्स प्लेन आने लग गए हैं,जो अधिक मजबूत रहते हैं,ऐसा दुकानदारों का कहना है। इनका कहना है दुकानदार पुखराज जैन एवं असलम के अनुसार मंगलवार से मण्डी खुलते ही उनके व्यापार में भी तेजी आ जाएगी। लॉकडाउन के समय तथा पिछले 6 दिनों से हुए अनलॉक के बीच ग्रामीण क्षेत्रों से किसान शहर नहीं आया। रूपये का भी अभाव रहा। अब फसल एवं अन्य उपज बेचने के लिए किसान आएगा तो स्वाभाविक है कि खरीदी करने के लिए उसके पास रूपये आ जाएंगे। उन्होने बताया कि इस बार प्री-मानसून के कारण शहर की छिटपुट ग्राहकी में जरूर उठाव आ गया है। उन्होने बताया कि वे माल मुख्यरूप से इंदौर से और मध्यप्रदेश के अन्य शहरों से मंगवाते हैं। लॉकडाउन के कारण इसके उत्पादन पर कोई असर नहीं गिरा। माल आसानी से उपलब्ध हो गया। हिंदुस्थान समाचार/ललित ज्वेल