madhya-pradesh-vaccination-campaign-will-be-faster-in-rural-areas
madhya-pradesh-vaccination-campaign-will-be-faster-in-rural-areas
मध्य-प्रदेश

मध्‍य प्रदेश : ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण अभियान होगा तेज

news

भोपाल, 26 अप्रैल (हि.स.)। मध्य प्रदेश के शहरों पर विशेष फोकस करने के बाद अब कोरोना टीकारण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। इसके लिए सोमवार को विशेष कार्ययोजना बनाई गई। रेसीडेंसी कोठी इंदौर में आयोजित बैठक में इंदौर के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना की वर्तमान स्थितियों की समीक्षा करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के उपचार और शहरी क्षेत्र में माइक्रो कंटेंनमेंट ज़ोन के संबंध में विशेष तौर पर योजना बनाई है । साथ ही एक मई से प्रारंभ हो रहे वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने पूरा खाका तैयार किया गया । मंत्री सिलावट ने निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड मरीज पाये जाने पर उन्हें तत्काल कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि वर्तमान में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 46 माइक्रो कंटेनमेंट झोन बनाये गये है, इसके अतिरिक्त लगभग 25-30 क्षेत्रों को चिन्हित कर उन्हें भी माइक्रो कंटेनमेंट झोन बनाये जाने की कार्यवाही कर सख्ती से पालन कराया जाये। उन्होंने जनता कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराने के भी निर्देश दिये। साथ ही उल्लंघन करने पर दण्ड स्वरूप सांकेतिक रूप से अस्थाई जेल भेजने के भी निर्देश दिये, ताकि जनता कर्फ्यू का सख्ती से पालन किया जा सके। इस हेतु जनता कर्फ्यू के दौरान पुलिस फोर्स के सहयोग के लिये फॉरेस्ट गार्ड, होम गार्ड, नगर सुरक्षा समिति, एनसीसी कॅडेट की सेवाऐं लेने के भी निर्देश दिये गये ताकि बल की कमी न हो सके। रेमडेसिविर कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध रासुका की कार्रवाई हो श्री सिलावट ने निर्देश दिये कि रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध रासुका की कार्रवाई की जाये। उन्होंने कलेक्टर श्री मनीष सिंह को ऑक्सीजन ऑडिट एवं स्टेप डाउन की समुचित व्यवस्था करने एवं निगरानी रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अस्पतालों के बाहर मरीजों के परिजनों के लिये टेंट लगाकर, बैठने एवं पानी इत्यादि की समुचित व्यवस्था की जाये। उन्होंने वैक्सीनेशन अभियान को शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभावी रूप से संचालित करने के निर्देश भी दिये। मंत्री सिलावट ने बैठक में कहा कि होम आइसोलेशन की समुचित व्यवस्था की समीक्षा प्रतिदिन मेरे द्वारा कंट्रोल सेंटर पर जाकर की जा रही है तथा प्रतिदिन 25-30 मरीजों से मेरे द्वारा विडियो कालिंग पर चर्चा भी की जा रही है। उनकी कठिनाईयों एवं परेशानियों को तुरंत हल करने तथा होम आइसोलेशन में मरीजों का मनोबल बढाने हेतु प्रतिदिन 2 बार फोन पर बात करने के निर्देश भी मेडिकल टीम को दिये गये। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ. मयंक चतुर्वेदी