कोविड का कहर: हनुमान मंदिर में मनी जयंती, खौफ के कारण नहीं आये भक्त

कोविड का कहर:  हनुमान मंदिर में मनी जयंती, खौफ के कारण नहीं आये भक्त
kovid39s-havoc-money-jubilee-in-hanuman-temple-devotees-did-not-come-due-to-fear

27/04/2021 मन्दसौर 27 अप्रैल (हिस)। नगर के सभी भगवान हनुमान जी के मंदिरों में मंगलवार को हनुमान जयंती का पर्व कोविड नियमों के तहत मनाया गया। सभी हनुमान मंदिरों में सुबह हवन, पूजा पाठ हुए लेकिन सीमित संख्या में ही लोग उपस्थित हुए थे। नगर के तैलय वाले बालाजी मंदिर में दो दिन से पूजा पाठ और हवन का आयोजन चल रहा है, ताकि कोरोना के कहर से निजात मिल सकें। धर्मधाम गीता भवन में श्री हनुमन्त प्राकटोत्सव पर्व पर गीता भवन के अध्यक्ष अन्तर्राष्ट्रीय संत स्वामी राम निवासजी महाराज के सानिध्य में तथा ज्योतिषज्ञ लाड़कुंवर दीदी के मार्गदर्शन में यज्ञ का आयोजन किया गया। गीता भवन ट्रस्ट के ट्रस्टी विनोद चौबे एवं नीता चौबे यज्ञ के जजमान थे। युवा विद्वान पं. हेमन्त भट्ट ने श्री हनुमन्त चालीसा यज्ञ सहित वैदिक मंत्रोच्चार के साथ यज्ञ करवाया। यज्ञ में कोरोना संक्रमण से देश एवं विश्व को मुक्ति के लिये प्रार्थना की गई। महावीर फतेह करे सेवा संस्था (बालाजी ग्रुप) द्वारा भगवान हनुमान जयंती एवं संस्था के 13वें स्थापना दिवस पर बादरपुरा स्थित जंगली बालाजी मंदिर पर हवन, विशेष पाठ एवं महाआरती का आयोजन किया गया। इस दौरान उपस्थित सभी ने देश को कोरोना महामारी से मुक्त कराने की प्रार्थना की। हवन, हनुमान चालीसा एवं बजरंग बाण का पाठ पं. संतोष त्रिपाठी के सानिध्य में हुआ। इस दौरान कोविड के नियमों का पालन किया गया। हिन्दुस्थान समाचार / अशोक झलौया