kamal-nath-has-written-a-letter-to-chief-minister-shivraj-singh-and-suggested-about-corona
kamal-nath-has-written-a-letter-to-chief-minister-shivraj-singh-and-suggested-about-corona
मध्य-प्रदेश

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को पत्र लिखकर कोरोना को लेकर दिये सुझाव

news

भोपाल, 06 अप्रैल (हि.स.)। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि मध्य प्रदेश आज कोरोना संक्रमण के मामले में भारतवर्ष में सातवें स्थान पर पहुंच गया है और प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति भयावह हो गई है। प्रदेश में प्रतिदिन कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़ती जा रही है और अनेक प्रदेशवासी असमय काल कवलित हो रहे हैं। कमलनाथ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर कोरोना को लेकर सुझाव दिए है। उन्होंने पत्र में कहा है कि कोरोना संक्रमण की इस द्वितीय लहर में प्रदेश की स्थिति अत्यंत चिंताजनक है और इस समय गहन और तीव्र वैक्सीनेशन अभियान के साथ कोविड अनुकूल व्यवहार को बाध्यकारी बनाने की संयुक्त नीति से कार्य करने की आवश्यकता है। आपसे दूरभाष पर हुई चर्चा के अनुक्रम इस सामयिक एवं महती विषय पर मेरे सुझाव है। 1. आज कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को गहनता और तीव्रता से लागू करने की आवश्यकता है। उम्र के बंधन को समाप्त कर प्रदेश के प्रत्येक आमजन को कोरोना वैक्सीन नि:शुल्क लगाई जाये। प्रथम लहर एवं वर्तमान में अधिक संक्रमित क्षेत्रों को चिन्हांकित कर उनमें वैक्सीनेशन का कार्य प्राथमिकता से किया जाये। 2. कोरोना वैक्सीन की आधिक्य में अग्रिम उपलब्धता एवं सुरक्षित भण्डारण वैक्सीनेशन के अभियान को अत्यधिक गति प्रदान करेगा। वैक्सीन की आधिक्य में अग्रिम उपलब्धता सुनिश्चित की जाना चाहिए। 3. कोरोना वैक्सीन की जिलों में तात्कालिन अनुपलब्धता कोरोना वैक्सीनेशन के अभियान की गति को प्रतिकूल रुप से प्रभावित करता है। प्रदेश में ऐसी स्थितियां निर्मित हुई है। अत: यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि प्रत्येक वैक्सीनेशन केन्द्र पर वैक्सीन उपलब्ध रहे और कोई आमजन बिना वैक्सीनेशन के वापस न जाये। 4. वैक्सीनेशन अभियान को गति प्रदान करने के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं अन्य की सहायता लेकर घर- घर जाकर आमजन को वैक्सीनेशन केन्द्र तक लाने के प्रयास किया जाये, जिससे कि वैक्सीनेशन के अभियान को तीव्रता मिले। 5. कोरोना की जांच हेतु रैपिड टेस्ट की संख्या एवं गति बढ़ाई जाये एवं घर- घर जाकर टेस्ट किए जाये, जिससे कि अधिकाधिक जनसामान्य की जांच हो सके। व्यापक मुफ्त टेस्टिंग से चिन्हांकन एवं एकांतीकरण के कार्य को गति मिलेगी और कोरोना की प्रभावी रोकथाम होगी। टेस्ट की रिपोर्ट न्यूनतम समय, यथा 8 घंटे, में जारी की जाना सुनिश्चित किया जाना चाहिए। ट्रेसिंग- सर्वे के कार्य में भी गति लाई जाये। 6. कोरोना की निजी अस्पतालोंं में जांच की दरों को न्यूनतम नियत किया जाकर इसके सुचारू अनुवीक्षण हेतु कठोर व्यवस्था लागू की जाना चाहिए। 7. कोरोना संक्रमितों के समुचित मुफ्त उपचार की सम्यक व्यवस्था सुनिश्चित की जाना चाहिए। प्रदेश में कोरोना के उपचार हेतु आईसीयू- एचडीयू बेड एवं आक्सीजन बेड की उपलब्धता लगभग समाप्त हो गई है। इस विषय पर तत्काल कार्यवाही आवश्यक है, अन्यथा की स्थिति भयावह हो। 8. अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हो, इस हेतु तत्काल आवश्यक निर्णय लिये जाये। प्रदेश के ऐसे ऑक्सीजन प्रदाय प्लांट जो कि किसी कारण से बंद है, उन्हें पुन: प्रारंभ कराया जाना चाहिए ताकि ऑक्सीजन की सुचारू एवं सतत व्यवस्था सुनिश्चित हो सके। ऑक्सीजन की उपलब्धता की सतत एवं प्रभावी निगरानी आवश्यक है। 9. निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज हेतु उपचार की दरें न्यूनतम तय कराई जाये एवं आमजन को मनमाने शुल्क से राहत उपलब्ध कराई जाये। यह कार्य सामाजिक सरोकर के रुप में भी किया जा सकता है। 10. कोरोना के ईलाज में लगने वाले आवश्यक इंजेक् शन एवं दवाईयों को पर्याप्त उपलब्धता सस्ती दरों पर सुनिश्चित कराई जाये। उदाहरणार्थ- रेमेडेसिवर इंजेक् शन का उनयोग अनेक स्थानों पर उपचार हेतु किया जा रहा है परन्तु यह उपलब्ध नहीं हो रहा है एवं कालाबाजारी की सूचनाएं मिल रही है। पर्याप्त उपचार सामग्री निश्चित दर पर उपलब्ध हो ऐसी व्यवस्था आवश्यक है। 11. कोविड अनुकूल व्यवहार को बाध्यकारी बनाने के प्रयास किए जाना चाहिए, परन्तु यह सुनिश्चित हो कि आमजन के साथ ज्यादती न हो। 12. आज प्रदेश का आमजन लॉकडाउन, आर्थिक मंदी एवं महंगाई की परिस्थितियों से पीडि़त है। गरीब वर्ग, दिहाड़ी मजदूर एवं छोटे छोटे व्यवसाय कर रहे आमजन की स्थिति चिंतनीय है। आज तत्काल राहत की आवश्यकता है। इस हेतु आमजन के पक्ष में मानवीय सोच के साथ आर्थिक राहत के कदम उठाये जाने चाहिए। हमारे मप्र के भाईयों और बहनों को कोरोना संक्रमण के इस काल में मानवीय सम्बल की भी आवश्यकता है। मैं और कांग्रेसजन कोरोना के विरुद्ध हर अभियान में आमजन के साथ खड़े है और प्रयास कर रहे हैं। आशा करता हूं कि आप मेरे इन सुझावों को लागू करेंगे ताकि प्रदेश का आमजन कोरोना से युद्ध जीत सके। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय/राजू