कमलनाथ सरकार ने दिया किसानों को धोखा, जन-जन तक यह बात पहुंचाए किसान मोर्चा
कमलनाथ सरकार ने दिया किसानों को धोखा, जन-जन तक यह बात पहुंचाए किसान मोर्चा
मध्य-प्रदेश

कमलनाथ सरकार ने दिया किसानों को धोखा, जन-जन तक यह बात पहुंचाए किसान मोर्चा

news

विधानसभा उपचुनाव को लेकर आयोजित भाजपा किसान मोर्चा की बैठक में वक्ताओं ने कहा भोपाल, 23 जुलाई (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने किसानों की समृद्धि के लिए अनेक कदम उठाए हैं। वहीं, प्रदेश की शिवराज सरकार ने भी अपने 100 दिनों के कार्यकाल में किसानों के लिए कई काम किए हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने प्रदेश के किसानों से झूठ बोला है, उन्हें धोखा दिया है। इस सरकार ने अपने 15 महीनों के कार्यकाल में किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया। इस तथ्य को प्रदेश की जनता और किसानों तक पहुंचाने का काम किसान मोर्चा को करना है। यह बात पार्टी के नेताओं ने गुरुवार को किसान मोर्चा की बैठक को संबोधित करते हुए कही। इस बैठक को प्रदेश सरकार के मंत्री भूपेंद्रसिंह, कमल पटेल, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर एवं मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रणवीरसिंह रावत ने संबोधित किया। बैठक का संचालन विनोद सिंह जादौन ने किया एवं आभार देवेन्द्र सिंह नरवरिया ने माना। उपचुनाव सरकार को और मजबूत करेगा : भूपेंद्र सिंह मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने किसानों को कर्जमाफी के नाम पर धोखा दिया। फसल बीमा के प्रीमियम राशि का भुगतान भी कमलनाथ सरकार ने नहीं किया। हर कदम पर कमलनाथ सरकार ने किसानों को परेशान किया। जबकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तो सबसे पहले किसानों के फसल बीमा की राशि सुनिश्चित करने के लिए बैंको को बीमा की प्रीमियम राशि जमा की। आम व्यक्ति को कोरोना संकटकाल में राहत देने के लिए शिवराज सरकार ने 38000 करोड रूपए की राशि सीधे हितग्राहियों के खाते में भेजने का काम किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने किसानों की जितनी राशि रोकी थी, उसे मुख्यमंत्री बनते ही शिवराजसिंह चौहान ने पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ की गयी नाइंसाफी का जवाब कांग्रेस को उपचुनाव में जनता देगी। यह उपचुनाव किसानों, गरीबों और हर वर्ग की चिंता करने वाली सरकार को बनाए रखने और मजबूत करने का उपचुनाव है। किसानों को आत्मनिर्भर बनाना सरकार का लक्ष्य : कमल पटेल प्रदेश शासन के मंत्री कमल पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत का जो संकल्प लिया है वह संकल्प गांवों के विकास और किसान की मजबूती से पूरा होगा। किसान आत्मनिर्भर बने, इस दिशा में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने आजादी के बाद से किसानों को छलने का काम किया। कांग्रेस आज भी किसानों को सिर्फ वोट बैंक मानती है। कांग्रेस की सरकारों ने कभी भी ग्रामीण विकास की ओर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अटलजी के नेतृत्व में एनडीए सरकार ने गांव के विकास की चिंता की। उन्होंने प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना, किसान क्रेडिट कार्ड जैसी योजनाओं से किसान और गांव को समृद्ध बनाने का मार्ग प्रशस्त किया। पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने उसी संकल्प को साकार कर रहे हैं। पटेल ने कहा कि उपचुनाव में एक तरफ किसान हितैषी भाजपा है और दूसरी तरफ किसानों से झूठ बोलने वाली कांग्रेस है। किसान मोर्चा किसानों के बीच जाए और उन्हें याद दिलाए कि कांग्रेस ने चुनाव के पहले किस प्रकार उनसे झूठ बोला था। कमलनाथ सरकार ने किसानों को लाठियां दी और भाजपा ने बोनस राशिः पाराशर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने किसानों को कर्जमाफी के नाम पर धोखा दिया, कांग्रेस के राहुल गांधी ने कहा कि 2 लाख तक का कर्जा माफ करेंगे नहीं तो मुख्यमंत्री बदल देंगे, लेकिन न ही कर्जा माफ हुआ और न ही मुख्यमंत्री बदला गया। किसानों को प्रधानमंत्री किसान समृद्धि की 6 हजार रुपये राशि नहीं मिलने दी और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ढाई लाख आवास भी लौटा दिए। उन्होंने कहा कि किसान मोर्चा चौपालों पर जाकर किसानों को बताएं कि कमलनाथ सरकार ने यूरिया की लाईन में लगे किसानों पर लाठियां बरसाने का काम किया तो वहीं मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने किसानों को 265 रूपए गेहूं पर बोनस दिया। किसानों को बताएं कि कमलनाथ के शासन काल में मंदसौर, भिंड और मुरैना तक अतिवृष्टि हुई लेकिन मुख्यमंत्री तो छोड़ो, एक मंत्री तक खेत में किसानों के साथ खड़ा नहीं मिला। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार ने 15 महीनों प्रदेश में अनेक पाप किए हैं, जिन्हें हमें जनता को बताना है। मोर्चा करेगा किसानों को जागरूक : रावत भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रणवीर सिंह रावत ने कहा कि देश में लंबे समय तक शासन करने वाली कांग्रेस की सरकारों ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। प्रदेश में कमलनाथ सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया। प्रदेश में 15 महीने के कांग्रेस के शासन के बाद जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता में आई तो किसानों से सबसे अधिक गेहूं खरीदी की गई और मध्यप्रदेश ने पंजाब को भी पीछे छोड़ दिया। इस कोरोना संकट के बीच हमें इन सभी विषयों को लेकर हमें किसानों के बीच जाना है और किसानों को जागरूक करना है। बैठक में मोर्चा के प्रदेश मंत्री शिवराजसिंह ठाकुर, प्रदेश कार्यालय मंत्री पदमसिंह ठाकुर, प्रदेश मीडिया प्रभारी संदीप श्रीवास्तव सहित मोर्चा के पदाधिकारी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in