joint-team-of-agriculture-revenue-and-horticulture-department-will-conduct-intensive-survey-to-assess-damage
joint-team-of-agriculture-revenue-and-horticulture-department-will-conduct-intensive-survey-to-assess-damage
मध्य-प्रदेश

क्षति के आंकलन का सघन सर्वे करेगा कृषि, राजस्व एवं उद्यानिकी विभाग का संयुक्त दल

news

सिवनी, 21 फरवरी (हि.स.)। विगत 16 फरवरी को हुई असामयिक वर्षा के दौरान हुई ओलावृष्टि से प्रभावित ग्रामों में विस्तृत सर्वे कर क्षति का आंकलन तथा क्षतिपत्रक तैयार करने हेतु राजस्व विभाग, कृषि विभाग एवं उद्यानिकी विभाग के मैदानी अधिकारी, कर्मचारियों का संयुक्त दल गठित किये जाने के निर्देश रविवार को कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग द्वारा जारी किये गये हैं। कलेक्टर ने कहा कि मैदानी दल के अधिकारी, कर्मचारी 01 सप्ताह के भीतर ओलावृष्टि से प्रभावित ग्रामों में ओलावृष्टि से हुई क्षति का आंकलन कर संयुक्त हस्ताक्षर से क्षति पत्रक तैयार कर संबंधित तहसीलदार को प्रस्तुत करेंगे तथा तहसीलदार के द्वारा क्षति पत्रक के अनुसार प्रभावित किसानों की सूची संबंधित ग्राम पंचायत के सूचना पटल पर चस्पा कर दावे आपत्ति आमंत्रित करेगा। प्राप्त दावे आपत्तियों का निराकरण तहसीलदार द्वारा तत्काल किया जावेगा तथा प्राप्त दावे आपत्तियों के अनुसार क्षति के सर्वे से वंचित रहे कृषकों का सर्वे कराये जाने हेतु गठित दल को निर्देशित करेगा। जारी आदेशानुसार इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखा जाएगा कि क्षति से अप्रभावित व अपात्र व्यक्तियों के नाम क्षति पत्रक में किसी भी परिस्थितियों में सम्मिलित न किया जाए तथा पात्र एवं क्षति से प्रभावित कोई भी व्यक्ति, कृषक क्षति सर्वे से छूटे नहीं। इसी तरह प्रभावित ग्रामों में क्षति का सर्वे के दौरान दल के साथ उपस्थित रहने हेतु स्थानीय जनप्रतिनिधियों सूचित किया जाएगा तथा संबंधित ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक सतत सर्वे दल को ग्राम पंचायत क्षेत्र में सर्वे कार्य में आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे। प्राकृतिक आपदा जैसे राहत कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी,कर्मचारी के विरूद्ध नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/रवि