घर-घर जाकर किया आग्रह तो बढ़ा टीकाकरण के प्रति रुझान

घर-घर जाकर किया आग्रह तो बढ़ा टीकाकरण के प्रति रुझान
insistence-on-door-to-door-increased-trend-towards-vaccination

गुना, 22 मई (हि.स.) । गुना में कोरोना के अधिकतर केस अब ग्रामीण इलाकों में आ रहे हैं। वहीं वैक्सीन की रफ्तार ग्रामीण इलाकों में काफी धीमी है। डर के कारण ग्रामीण वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंच रहे हैं। ऐसे में कुम्भराज तहसील में नागरिकों के बीच के ही सामाजिक व्यक्तियों से पहल करवाई गई है। इनकी बात समझकर ग्रामीणों ने वैक्सीन लगवाना शुरू किया है। कुम्भराज में 45+ के नागरिकों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। यहां दिन भर में बहुत कम नागरिक ही वैक्सीन लगवाने पहुंच रहे हैं। वहीं महिलाओं में तो सबसे ज्यादा डर बैठा हुआ है। उनका कहना है कि वैक्सीन के बाद अगर बीमार पड़े तो इलाज कराने कौन लेकर जाएगा। प्रशासन द्वारा लगातार इनके बीच जाकर वैक्सीन लगवाने की अपील की जा रही है, लेकिन उसके बाद भी संख्या में संतोषजनक इजाफा नहीं हो पा रहा था। इसी को देखते हुए क्षेत्र के सामाजिक लोगों को तैयार कर नागरिकों को जागरूक करने के लिए कहा गया। इसके संतोषजनक परिणाम देखने को मिले। नगर परिषद् सीएमओ प्रीति सिकरवार ने बताया कि सामाजिक लोग उन्हीं के बीच के होते हैं और उनकी बात नागरिक ज्यादा गंभीरता से सुनते हैं। हमने कुम्भराज में यह प्रयोग किया। उनके बीच के ही सामाजिक लोगों से वैक्सीन लगवाने की अपील करवाई। इसके कुछ संतोषजनक परिणाम सामने आए। एक ही दिन में रिकॉर्ड 60 नागरिकों को टीका लगा। केश शिल्पी बोर्ड के उपाध्यक्ष बाबूलाल सेन खुद नागरिकों के बीच पहुंचे और अपने साथ 20 लोगों को तैयार करके लाए। उनके साथ ही इन सभी ने भी टीका लगवाया। अभी तक एक दिन में टीका लगवाने वालों का आंकड़ा इतना नहीं रहा। पहली बार एक दिन में 60 लोगों को वैक्सीन लगी। वहीं इन सामाजिक लोगों से आगे भी निरंतर आमजन को जागरूक करने की अपील की गई है। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक