from-the-budget-session-22-of-the-mp-assembly-there-will-be-a-ban-on-the-sit-in-demonstration-in-the-surrounding-areas
from-the-budget-session-22-of-the-mp-assembly-there-will-be-a-ban-on-the-sit-in-demonstration-in-the-surrounding-areas
मध्य-प्रदेश

मप्र विधानसभा का बजट सत्र 22 से, आसपास के क्षेत्रों में धरना-प्रदर्शन पर रहेगा प्रतिबंध

news

सत्र के दौरान लागू रहेगी धारा 144, कलेक्टर ने जारी किये आदेश भोपाल, 18 फरवरी (हि.स.)। मध्यप्रदेश विधानसभा का बजट सत्र आगामी 22 मार्च से शुरू हो रहा है। यह सत्र 26 मार्च तक चलेगा। सत्र की शुरुआत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण से होगी। सत्र के दौरान विधानसभा के आसपास के क्षेत्रों में धरना-प्रदर्शन प्रतिबंधित रहेगा। भोपाल कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट अविनाश लवानिया ने विधानसभा के बजट सत्र के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के मद्देनजर दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिया है। यह आदेश 22 फरवरी से 26 मार्च तक सुबह 6 बजे से रात्रि 12 बजे की अवधि में विभिन्न क्षेत्रों में लागू रहेगा। कलेक्टर लवानिया द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि यह आदेश 74 बंगले के ऊपर वाली सडक़ से होते हुए रोशनपुरा चौराहा में लागू रहेगा। नवीन विधायक विश्रामगृह के सामने वाला मार्ग पुराना, पुलिस अधीक्षक कार्यालय से सब्बन चौराहा, ओमनगर और वल्लभ नगर का समस्त झुग्गी क्षेत्र धारा 144 के तहत जारी आदेश का प्रभाव क्षेत्र माना जायेगा। यह आदेश डयूटी पर कार्यरत कर्मचारियों-अधिकारियों पर लागू नहीं होगा। शवयात्रा या बारात भी इस आदेश से मुक्त रहेंगे। आदेश में स्पष्ट किया गया है कि भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोरोना के संबंध में जारी आदेशों-निर्देशों, सोशल डिस्टेंसिंग गाइडलाइन एवं कार्य स्थल के एस.ओ.पी. का पालन करना अनिवार्य होगा तथा कंटेनमेंट जोन से किसी भी स्टाफ की कार्य स्थल पर उपस्थिति प्रतिबंधित रहेगी। जारी आदेश के मुताबिक उल्लेखित क्षेत्र में पांच या उससे अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे। कोई व्यक्ति किसी जुलूस- प्रदर्शन का न तो निर्देशन करेगा और न उसमें भाग लेगा तथा न ही कोई सभा आयोजित की जायेगी। आदेश में यह साफ कर दिया गया है कि सत्र के दौरान कोई भी व्यक्ति चाकू या अन्य धारदार हथियार लेकर नहीं चलेगा। कोई भी व्यक्ति ऐसा कोई कार्य नहीं करेगा जिससे उद्योग और सार्वजनिक या निजी सेवाओं पर विपरीत असर पड़ता हो। प्रभावित क्षेत्र में पुतला दहन या किसी तरह के आंदोलन की सख्त मनाही की गई है। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश-hindusthansamachar.in