Former MLA wrote letter to Chief Minister for regularization and honorarium of public service employees
Former MLA wrote letter to Chief Minister for regularization and honorarium of public service employees
मध्य-प्रदेश

लोकसेवा कर्मचारियों के नियमितीकरण और मानदेय के लिए पूर्व विधायक ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

news

अनूपपुर, 29 दिसम्बर (हि.स.)। लोक सेवा प्रबंधन विभाग अंतर्गत जिला स्तर पर पदस्थ जिला प्रबंधक (लोक सेवा) एवं कार्यालय सहायक(लोक सेवा) का मानदेय व नियमितीकरण के लिए अवसर प्रदान करने के लिए अनुशंसा पत्र मंगलवार को पूर्व विधायक व भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष रामलाल रौतेल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को लिखा है। जिसमें दो मुख्य मांगों नियमितीकरण और मानदेय को पूर्ण की अपील की है। पत्र में पूर्व विधायक ने कहा है कि मप्र लोक सेवाओं के प्रदान की गांरटी अधिनियम 2010 के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिला स्तर पर एक-एक पद संविदा जिला प्रबंधक(लोक सेवा)एवं संविदा कार्यालय सहायक (लोक सेवा) का पद सृजित किया गया था। लोक सेवा गांरटी अधिनियम, सीएम हेल्पलाइन, जनसुनवाई, लोक कल्याण शिविर सहित अन्य क्रियान्वयन और सुशासन के लिए अपना विशेष योगदान पिछले 9 वर्षो से सेवा देते आ रहे हैं। लेकिन भोपाल से सम्बंधितों की नियुक्ति दिनांक से आजतक मूल वेतन का पुनर्निधारण नहीं किया गया है। जबकि इसी कार्य के लिए वर्ष 2016 में राजस्व कार्यालयों में संविदा पर कार्यालय सहायक सह डाटा एंट्री ऑपरेटरों की भर्ती किया गया, और सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा आदेश जारी कर 5 जून 2018 की नीति अनुसार उन्हें पारिश्रमिक का 90 फीसदी मानदेय दिया जा रहा है। उन्हीं आदेशों के अनुसार इनकी भी अनुशंसा की जाए की अपील की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in