ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए किए जाएँगे सतत प्रयास-खाद्य मंत्री
ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए किए जाएँगे सतत प्रयास-खाद्य मंत्री
मध्य-प्रदेश

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए किए जाएँगे सतत प्रयास-खाद्य मंत्री

news

-4 करोड़ 16 लाख से अधिक के विकास कार्यों का खाद्य मंत्री ने किया भूमिपूजन एवं लोकार्पण अनूपपुर, 30 जुलाई (हि.स.)। प्रदेश के हर एक ग्राम को चिकित्सा, शिक्षा, सिंचाई के साधन आदि विषयों में आत्मनिर्भर बनाने के लिए शासन द्वारा सतत रूप से प्रयास किए जा रहे हैं। आपने कहा हर एक नागरिक को विकास की मुख्यधारा में जोडऩे एवं देश को आत्मनिर्भर बनाने हेतु ग्रामीण अर्थव्यवस्था का सशक्त होना महत्वपूर्ण हैं। मंत्री बिसाहूलाल सिंह विभिन्न विकास कार्यों के भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम में आमजनो को सम्बोधित कर रहे थे। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने गुरुवार को चचाई, मौहार टोला, केल्होरी, देवरी, खोली, पटनाकला एवं ग्राम डोंगरा टोला में 4 करोड़ 16 लाख 21 हज़ार लागत के विभिन्न विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया। श्री सिंह ने कहा सिंचाई के साधनोंं का विकास शासन की प्राथमिकता है। चोलना एवं धनपुरी जलाशय में सिंचाई कार्यों की13 करोड़ की राशि प्राप्त हो चुकी है। हर एक ग्राम स्टॉप डैम, लिफ्ट इरीगेशन सुविधा के माध्यम से सिंचाई के साधन मुहैया कराने हेतु सर्वे कार्य प्रारम्भ हो चुका है। इस हेतु कृषि विभाग को आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं। श्री सिंह ने बताया कि चचाई थर्मल पॉवर प्लांट में क्षमता विस्तार, 200 बेड जिला चिकित्सालय एवं ओवर ब्रिज कार्य आवश्यक स्वीकृतियाँ प्राप्त हो चुकी हैं। शीघ्र ही जिले में उक्त विकास कार्य एवं सुविधाएं उपलब्ध होंगी। खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने ग्राम देवरी में 1 करोड़ 18 लाख 92 हजार लागत की आवर्धन नल जल योजना का भूमिपूजन किया। योजना के फलस्वरूप 6 माह के अंदर ग्राम देवरी के समस्त घरों में क्रियाशील नल जल की सुविधा मुहैया होगी। योजनांतर्गत 03 नलकूप, उच्च स्तरीय पानी टंकी क्षमता 175 कि.ली., सम्पवेल क्षमता 25 कि.ली. एवं पाईप लाईन विस्तार 10 किमी का कार्य किया जाएगा। इसके साथ ही पीसीसी सड़कों कुल लागत 18 लाख 62 हजार का भूमिपूजन तथा यात्री प्रतीक्षालय लागत 3 लाख का लोकार्पण किया गया। ग्राम पटनाकला में 38 लाख लागत की गौशाला, पीसीसी सड़क लागत 3 लाख 7 हजार एवं चेक डैम लागत 29 लाख 88 हजार की सौगात दी। ग्राम डोंगराटोला में 30 लाख लागत के उपस्वास्थ्य केंद्र के साथ चेक डैम लागत 15 लाख एवं पीसीसी सड़कों लागत 16 लाख 41 हजार के कार्यों का भूमिपूजन किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in