Displeasure over SC-ST and women not getting a place in the preliminary examination of Public Service Commission
Displeasure over SC-ST and women not getting a place in the preliminary examination of Public Service Commission
मध्य-प्रदेश

लोक सेवा आयोग की प्रारंंभिक परीक्षा में एससी-एसटी एवं महिलाओं को स्थान नहीं मिलने सेे नाराजगी

news

रतलाम, 29 दिसम्बर (हि.स.)। जिले की अनुसूचित जाति जनजाति अधिकारी कर्मचारी संघ (अजाक्स) मध्य प्रदेश की तहसील शाखा पिपलोदा व जावरा के संयुक्त तत्वाधान में मंगलवार को जिला उपाध्यक्ष शंभूलाल मालवीय,जिला महासचिव अंबाराम बोस के नेतृत्व में पिपलोदा तहसील अध्यक्ष दिनेश कुमार दिंदोडिया, सचिव जावरा नाथूलाल भारती के द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम अनुविभागीय अधिकारी राहुल घोटे को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग इंदौर द्वारा प्रारंभिक परीक्षा 2019 के परिणाम घोषित किए गए जिसमें अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़ा वर्ग एवं महिलाओं को स्थान नहीं दिया गया जिस कारण कई अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा से वंचित हो गए। लोक सेवा आयोग द्वारा 86 प्रतिशत आवेदकों को 50 प्रतिशत लाभ तथा 13 प्रतिशत पर 50 प्रतिशत आरक्षण का लाभ दिया गया। ज्ञापन में लोक सेवा आयोग द्वारा घोषित परीक्षा परिणाम को अन्याय व भेदभाव पूर्ण बताते हुए इसे निरस्त करने की मांग की गई। ज्ञापन के अवसर पर पूर्व जिला सचिव पिरूलाल मालवीय, अजाक्स ब्लॉक सचिव नाथूलाल भारती,राहुल दडिंग,मनोहर मुजाल्दे, मोहनलाल सोनार्थी,भागीरथ मालवीय,संजीव राय कुमार ब्लॉक अध्यक्ष अध्यक्ष जावरा,राजेश बामनिया,पूनमचंद बामनिया,मुकेश मालवीय, मिश्रीलाल मालवीय,जगदीश परिहार आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in