आज से 20 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू , दोपहर 12 बजे तक मिलेगा किराना, दूध और सब्जी

आज से 20 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू , दोपहर 12 बजे तक मिलेगा किराना, दूध और सब्जी
corona-curfew-from-today-to-april-20-grocery-milk-and-vegetables-will-be-available-till-12-noon

गुना, 14 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना संक्रमण की गति पर लगाम नहीं लग पाने के चलते आखिरकार प्रशासन को कोरोना कर्फ्यू लगाने पर मजबूर होना पड़ा है। यह कर्फ्यू 6 दिन का रहेगा और इसका समय कल 15 अप्रैल से शुरु होने जा रहा है। हालांकि कर्फ्यू के दौरान कई रियायतें भी दी गईं है, जिससे लोगों को ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। मसलन दोपहर 12 बजे तक किराना, दूध डेयरी और सब्जी की दुकानें खुल सकेंगी, वहीं रात 8 बजे तक इनकी होम डिलेवरी भी हो सकती है। अलबत्ता शहर में सामान्य आवागमन को प्रतिबंधित किया गया है। इस दौरान पुलिस, नगर पालिका और राजस्व की टीम सक्रिय रहेगा और फिजूल घूमने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कोरोना कर्फ्यू को लेकर निर्णय बुधवार को हुई जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में लिया गया। इसके बाद शाम को जिला दंडाधिकारी कुमार पुरुषोत्तम ने इसको लेकर आदेश भी जारी कर दिया। तीन दिन पहले टल गया था कर्फ्यू पांच दिन के कोरोना कर्फ्यू को लेकर जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में तीन दिन पहले भी निर्णय हो चुका था। यह बैठक पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महैन्द्र सिंह सिसौदिया की उपस्थिति में हुई थी। बैठक के बाद इस आशय का प्रस्ताव बनाकर प्रदेश सरकार को स्वीकृति के लिए भेजा गया था। इसी बीच निर्णय को लेकर विरोध के स्वर उठने लगे, वहीं दुकानदारों ने पंचायत मंत्री से भी गुहार लगाई। इसके मद्देनजर मामले में संवेदनशीलता से निर्णय लेते हुए कर्फ्यू का निर्णय टाल दिया गया। तय किया गया की दो दिन बाद कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखने के बाद इस संबंध में निर्णय लिया जाएगा। नहीं थमा संक्रमण, एक दिन में मिले 136 कोरोना कर्फ्यू के निर्णय भलें ही टल गया हो, किन्तू संक्रमण की गति थमने की बजाए बढ़ती रही। पहले दिन 84, फिर 78 और बीते रोज एक दिन में 136 संक्रमित सामने आए। इसके बाद बुधवार को जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित की गई।इस बैठक में कोरोना कर्फ्यू का जो निर्णय तीन दिन पहले टल गया था, उसे फिर लागू किया गया। इन गतिविधियों को रहेगी छूट अन्य राज्यों एवं जिलों में माल तथा सेवाओं का आवागमन। अस्पताल, नर्सिंग होम, मेडिकल इन्श्योरेंस कम्पनीज, अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएँ। केमिस्ट, पेट्रोल पम्प, बैंक एवं एटीएम। किराना दुकानें, डेयरी, दूध एवं फल/सब्जी, बीज कीटनाशक की दुकानें दोपहर 120 बजे तक खुलेंगी तथा किराना दुकानों से होम डिलिवरी शाम 8 बजे तक एवं फल/सब्जी के ठेले मोहल्लों-कॉलोनियों में घूमकर विक्रय कर सकेंगे। होटल/रेस्टोरेंट/भोजनालयों से भोजन टेक-अवे कि सुविधा शाम 8 बजे तक रहेगी। लक्ष्मीगंज, सदर बाजार, निचला बाजार एवं हाट रोड पर सुबह 8 बजे से दोपहर 12 तक तीन पहिया एवं चार पहिया वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। उक्त क्षेत्र के रहवासियों को छूट रहेगी परन्तु उन्हें अपना परिचय पत्र दिखाना होगा। औघोगिक मजदूरों, उघोग हेतु कच्चा/तैयार माल, उघोग के अधिकारियों/कर्मचारियों का आवागमन। एम्बूलेंस, फायर-ब्रिगेड, टेली-कम्यूनिकेशन, वि़द्युत प्रदाय, रसोई गैस, होम डिलेवरी सेवाऐं, दूध एकत्रीकरण/वितरण के लिए परिवहन। सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानें। केन्द्र/राज्य सरकार एवं स्थानीय निकाय के कार्यालय खुले रहेंगे तथा द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी के समस्त अधिकारी शत-प्रतिशत उपस्थित रहेंगे। लिपिकवर्गीय, तृतीय श्रेणी एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ उपस्थित रहेंगे। जिले की समस्त कृषि उपज मण्डियां खुली रहेंगी तथा मण्डी परिसर में कृषि व्यापारियों के अनाज की दुकानें खुली रहेंगी। हिन्दुस्थान समाचार /अभिषेक