कांग्रेस की स्थिति किसी से छिपी नहीं, चिंतन करें कांग्रेसी: मोघे

कांग्रेस की स्थिति किसी से छिपी नहीं, चिंतन करें कांग्रेसी: मोघे
congress39s-position-is-not-hidden-from-anyone-congress-should-think-moghe

इंदौर, 11 फरवरी (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व महापौर कृष्णमुरारी मोघे ने कहा है कि कांग्रेस की स्थिति किसी से छिपी नहीं है और इस बारे में कांग्रेसियों को चिंतन करना चाहिए। मोघे ने यह बात गुरुवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मीडिया से बातचीत करते हुए कही। नगरीय निकाय चुनाव को लेकर कांग्रेस द्वारा गुरुवार को कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया। इस सम्मेलन पर टिप्पणी करते हुए वरिष्ठ भाजपा नेता कृष्णमुरारी मोघे ने कहा कि हर किसी को अपनी पार्टी को मजबूत करना चाहिए, यह अच्छी बात है। देश हो चाहे प्रदेश हो, विपक्ष की भूमिका मजबूत होनी चाहिए। वे आयोजन सम्मेलन का आयोजन कर रहे हैं, हमें इसका दुख नहीं प्रसन्नता है। लेकिन एक समय देश में कांग्रेस की स्थिति ऐसी थी कि जो देशभक्त है वह कांग्रेसी है। आज कांग्रेस की स्थिति क्या है, यह बात किसी से छिपी नहीं है। कांग्रेस के लोगों को इस पर चिंतन करना चाहिए। मोघे ने कहा कि वे अपना काम करें, यह अच्छी बात है। कांग्रेस के सम्मेलन में उभरे असंतोष के स्वर कांग्रेस के जिस सम्मेलन में निकाय चुनाव प्रभारी विजयलक्ष्मी साधो ने मेयर पद के प्रत्याशी की घोषणा की, उसी मंच से असंतोष के स्वर भी उभरे। विधानसभा क्षेत्र-2 के नेता चिंटू चौकसे ने मंच से ही नाराजगी जताते हुए कहा कि पार्टी के लिए सबसे कठिन विधानसभा-2 में हम लड़ाई लड़ रहे हैं, यहीं पार्टी विधानसभा चुनाव में मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा वोटों से हारी। जब सम्मेलन या आयोजनों में कांग्रेस को जरूरत पड़ती है तो सबसे ज्यादा कार्यकर्ता 2 नंबर विधानसभा से ही आते हैं। लेकिन जब कोई समिति बनाने की बात आती है तो दो नंबर विधानसभा का प्रतिनिधित्व करने वाला कोई नहीं रहता। चौकसे ने कहा कि हम लोग मध्यप्रदेश के सबसे बड़े गुंडे-बदमाशों से लड़ रहे हैं। लेकिन जब हक और सम्मान की बात आती है तो हम सबसे पीछे खड़े हो जाते हैं। चौकसे ने कहा कि हम मर जाएंगे पर पार्टी चेंज नहीं करेंगे। हमें घर बैठना पड़े, इतनी परीक्षा मत लो। फिर लड़ा लेना अपने हिसाब से कांग्रेस पार्टी और अपने पार्षदों को। सूत्रों के अनुसार चिंटू की नाराजगी का कारण नगर निगम के लिए पार्टी द्वारा बनाई गई प्रत्याशी चयन समिति विधानसभा-2 से किसी को शामिल नहीं किया जाना था। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in