डीएपी की कमी और भारी भरकम बिजली बिलों को लेकर कांग्रेस ने सौंपा कलेक्टर को ज्ञापन

डीएपी की कमी और भारी भरकम बिजली बिलों को लेकर कांग्रेस ने सौंपा कलेक्टर को ज्ञापन
congress-submitted-a-memorandum-to-the-collector-regarding-the-lack-of-dap-and-huge-electricity-bills

गुना, 30 जून (हि.स.) । डीएपी की कमी और भारी भरकम बिजली बिलों को लेकर कांग्रेस कमेटी द्वारा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। कांग्रेस जिलाध्यक्षद्वय मानसिंह परसौदा एवं हरिशंकर विजयवर्गीय के नेतृत्व में सौंपे ज्ञापन में बताया डीएपी की अनुपलब्धता के कारण किसान परेशान हो रहे हैं। जबकि विपणन संघ से पंजीबद्ध निजी संस्थाएं, निजी समितियों को खाद उपलब्ध कराया जा रहा है जो सरकार द्वारा निर्धारिक दरों से कहीं अधिक दरों पर काला बाजारी की जा रही है। ज्ञापन में नगरपालिका में हो रही अनियमितताओं के बारे में भी बताया गया। ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष एवं पार्षद दीपेश पाटनी द्वारा बताया कि नगरपालिका में प्रधानमंत्री आवास से संबंधित शाखा में कुछ कर्मचारियों द्वारा भारी भ्रष्टाचार किया जा रहा है। जिन गरीबों के नाम कुटीर आवंटिक हो चुकी है। उनकी किश्त नहीं डाली जा रही। वहीं किस्त डालने के लिए प्रत्येक किस्त पर 10000 की रिश्वत मांगी जाती है, जो ये बात मान लेता है उसकी किस्त डल जाती है। अगर कोई 181 पर शिकायत दर्ज कराता है तो ये कर्मचारी उनके घर पहुंच जाते है और उन पर शिकायत वापस लेने के लिए दवाब बनाया जाता है। साथ ही धमकी दी जाती है कि शिकायत वापस नहीं लोगे को किस्त भी नही डलेगी। जिसके कारण उनकी शिकायत वापस करने पड़ती हैं। ज्ञापन में माह जून के दौरान आएं भारी भरकम बिजलों बिलों का भी मुद्दा उठाया। कांग्रेस ने कहा कि एक माह में दो-दो बार बिजली बिल उपभोक्ताओं को दिए जा रहे हैं। वह भी कई गुना बढ़ते हुए। ज्ञापन का वाचन किसान कांग्रेस अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह सिसौदिया किया। इस अवसर पर विश्वनाथ तिवारी, प्रशांत सिसोदिया, शेखर वरिष्ठ, सीमा यादव, अपूर्व भार्गव, पवन रघुवंशी, सृजन शिल्पकार, बृजेश शर्मा आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक

अन्य खबरें

No stories found.