मध्य-प्रदेश

वरिष्ठ भाजपा नेता हरि बाबू के निधन पर सीएम शिवराज ने जताया दुख

news

भोपाल, 03 अप्रैल (हि.स.)। जनसंघ के जमाने से भाजपा संगठन में सक्रिय रहे वरिष्ठ नेता और लोकतंत्र सेनानी हरिनारायण सक्सेना ‘हरि बाबू’ का गत दिवस मुम्बई के लीलावती अस्पताल में 88 वर्ष की आयु में निधन हो गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनके निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि रायसेन के वरिष्ठ समाजसेवी, जनसेवक और राष्ट्रवादी विचारक हरिनारायण सक्सेना 'हरि बाबू' के निधन का दु:खद समाचार मिला है। हरिनारायण सक्सेना जी ने समाजसेवा, संगठन और राष्ट्रभक्ति से जुड़े अभियानों में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया। उनका जीवन देश सेवा के लिए समर्पित था। हरि बाबू आपातकाल में कारावास में भी रहे और उन्होंने अनेक वरिष्ठ नेताओं के साथ कार्य किया। मैं उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मेरी संवेदनाएँ उनके परिजनों के साथ हैं। ईश्वर उनकी आत्मा की शांति दें और उनके परिजनों को यह दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करें, यही प्रार्थना है। गौरतलब है कि हरिनारायण सक्सेना भाजपा के जिलाध्यक्ष, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष भी रहे। आपतकाल के समय वे 19 महीने जेल में भी रहे। सक्रिय राजनीति में आने से पहले हरिनारायण सक्सेना शासकीय सेवा में भी रहे। बहुत ही सौम्य, शालीन व्यक्तिव के धनी सक्सेना रायसेन जिले वरिष्ठ अधिवक्ता भी थे। जनसंघ से लेकर भाजपा के सफर से वह सहभागी थे। स्व. अटलबिहारी वाजपेयी जब विदिशा संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़े थे, तब भी सक्सेना उनके साथ ही प्रचार की कमान संभाले हुए थे। यही स्थिति स्व. सुषमा स्वराज जी इस क्षेत्र से लोकसभा चुनाव के समय रही। कुछ समय से उनकी तबियत खराब थी, जिसके चलते परिजन उन्हें इलाज के लिए मुम्बई ले गये थे, जहां शुक्रवार को इलाज के दौरान लीलावती अस्पताल में उनका निधन हो गया। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश