समय पर ऑक्सीजन न मिलने से प्रधान आरक्षक की मृत्यु, पुलिस ने दी श्रद्धांजलि

समय पर ऑक्सीजन न मिलने से प्रधान आरक्षक की मृत्यु, पुलिस ने दी श्रद्धांजलि
chief-constable-dies-due-to-lack-of-oxygen-on-time-police-pays-tribute

मुरैना, 26 अप्रैल (हि.स;)। कोरोना संक्रमित बेटी को इलाज के लिये जिला चिकित्सालय में दाखिल कराने गये प्रधान आरक्षक की हालत रातोंरात बिगड़ गई। सोमवार सुबह पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलने से प्रधान आरक्षक की मौत हो गई। जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी जिला चिकित्सालय पहुंच गये। मुरैना के नगर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पदस्थ कार्यवाहक प्रधान आरक्षक लक्ष्मण सिंह विसेन विगत दिवस अपनी बेटी का इलाज कराने जिला चिकित्सालय ले गये थे। बेटी के साथ उनकी भी जांच हुई। देर शाम बैचेनी के साथ उनका स्वास्थ खराब हो गया। जिला चिकित्सालय में बेटी के साथ ही उन्हें इलाज के लिये दाखिल किया गया। सोमवार सुबह उनकी कोरोना रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई थी। कुछ देर बाद ही उनकी मौत हो गई। इसका कारण पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलना बताया जा रहा है। हालांकि पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कोरोना जांच के बाद ब्लडप्रेशर कम होता चला गया। प्रधान आरक्षक को मध्यप्रदेश पुलिस में अपने पिता के स्थान पर अनुकम्पा नियुक्ति मिली थी। वह गोरखपुर उत्तरप्रदेश के निवासी होकर मुरैना में पत्नी व तीन पुत्री, एक पुत्र सहित निवास कर रहे थे। उनकी एक बेटी की शादी हो चुकी है, 55 वर्षीय लक्ष्मण सिंह ने कोरोना वेक्सीन के दोनों डोज लगवाये थे। आज मुरैना में कोरोना संक्रमित 6 लोगों की मौत हुई। प्रधान आरक्षक की मृत्यु पर आईजी चम्बल मनोज कुमार शर्मा, डीआईजी चम्बल राजेश हिंगडक़र, पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डेय, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डा. रायसिंह नरवरिया, नगर पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र सिंह रघुवंशी सहित पुलिस अधिकारियों ने दु:ख व्यक्त करते हुये अंतिम श्रद्धांजलि दी। हिन्दुस्थान समाचार/उपेंद्र गौतम